ENGLISH HINDI Wednesday, July 08, 2020
Follow us on
 
पंजाब

बादलों द्वारा रेत माफिया विरुद्ध ही धरना हास्यप्रद: भगवंत मान

December 13, 2019 07:02 AM

चंडीगड़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान व सांसद भगवंत मान ने सुखबीर बादल के नेतृत्व में अकाली दल की तरफ से रेत माफिया के विरुद्ध मोहाली में दिए धरने पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि रेत माफिया के संस्थापक सदस्यों की तरफ से रेत माफिया और गुंडा पर्ची के विरुद्ध ही धरना ऐसे लगता है, जैसे तालिबान शान्ति और अहिंसा के लिए मोमबत्ती मार्च निकाल रहे हों।
पार्टी द्वारा जारी बयान में मान ने कहा कि कितनी हास्यप्रद बात है कि बादलों ने अपने 10 सालों के माफिया राज में रेत माफिया की संगठनात्मक तरीके के साथ पंजाब में लगाई थी, रेत माफियों के वही पितामा (फाऊंडर) आज रेत माफिया और गुंडा पर्ची के विरुद्ध ही धरने लगाने का ड्रामा करने लगे हैं।
भगवंत मान ने कहा कि धरने लगाने का असली कारण कांग्रेसियों के साथ रेत माफिया में अपना हिस्सा बढ़ाने के लिए दबाव डालना है। उन्होंने कहा कि पंजाब में सब को पता है कि कांग्रेसी, अकाली (बादल) और भाजपा वाले बारी बांध कर पंजाब को लूटते आ रहे हैं। इनमें से जो भी फिर सत्ता पर काबिज होता है, वह बड़े शेयर (हिस्सेदारी) के साथ सम्बंंधित माफिया की कमान संभाल लेता है। पहले बादलों के राज में रेत माफिया, शराब माफिया और केबल माफिया आदि में अकाली-भाजपा नेता बढ़े हिस्सेदार थे, व कांग्रेसी 20-30 प्रतिशत में छोटे भाईवाल थे। अब कांग्रेसी बड़े हिस्सेदार और बादल छोटे हिस्सेदार हैं। अब क्यूंकि बादल कैप्टन सरकार को अपने घर की सरकार समझते हैं, इस लिए वह कैप्टन के सलाहकार से मुबारिकपुर-डेराबस्सी व पूरे पंजाब में कांग्रेसीयों से रेते की खड्ढों व गुंडा पर्ची में अपने हिस्से को बराबर 50-50 प्रतिशत तक बढ़ाना चाहते हैं। जिस के लिए वह दबाव की राजनीति के अंतर्गत रेत माफिया के विरुद्ध धरने प्रदर्शन का नाटक कर रहे हैं।
मान ने कहा कि पंजाब के लोग यह भली-भांति जानते ही नहीं बल्कि आंखों देख रहे हैं, कि कैप्टन और बादल किस हद तक मिले हुए हैं। इस लिए न बादल और न ही कांग्रेसी ऐसे हास्यप्रद ड्रामे करके पंजाब के लोगों को ओर गुमराह नहीं कर सकते।
मान ने कहा कि यदि कैप्टन को पंजाब और पंजाबियों के हित प्यारे होते तो वह पंजाब में रेत माफिया को कुचलने और राज्य का खजाना भरने के लिए तेलंगाना सरकार की खनन नीति (माइनिंग पालिसी) पंजाब में लागू करते, उन्होंने कहा कि 2022 में ‘आप’ की सरकार बनने पर तेलंगाना माइनिंग माडल को ओर भी साफ सुथरे तरीके से लागू करेगी। जिसके साथ न केवल राज्य का खजाना भरेगा बल्कि बड़े स्तर पर रोजगार भी पैदा होगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा अस्पतालों का नाम ‘माई दौलतां जच्चा-बच्चा अस्पताल’ रखने का फैसला पंजाब में प्रवेश के लिए ई-रजिस्ट्रेशन हुआ अनिवार्य कोरोना महामारी: जागरूकता के लिए गाड़ीयों में ‘फट्टियाँ’ लगाने की मुहिम डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान: वर्तमान सैशन के सभी कोर्सों के लिए ली जाएंगी परीक्षाएं खजाने में सेंधमारी- फिर भी तरफदारी