ENGLISH HINDI Friday, July 10, 2020
Follow us on
 
पंजाब

मार्शल आर्ट पेशकारियों ने लूटा मिलिट्री लिटरेचर मेला

December 13, 2019 06:25 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
यहां लेक क्लब में शुरू हुए तीन दिवसीय ‘मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल 2019’ के पहले दिन देश की विभिन्न सैन्य रैजमैंटों के जवानों द्वारा दी गई मार्शल आर्ट और डांस पेशकारियां दर्शकों के आकर्षण का केंद्र रहीं। यह मेला पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार और पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर द्वारा सेना की पश्चिमी कमांड के सहयोग से करवाया जा रहा है जिसमें खराब मौसम होने के बावजूद शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोगों ने हाजिऱी भर कर अपनी सेना के गौरवशाली पक्षों संबंधी जानकारी हासिल की।
कर्नल मुहम्मद रकीब के नेतृत्व में 474 इंजीनियरज़ ब्रिगेड की यूनिट 270 द्वारा करवाए गए इस मार्शल आर्ट प्रोग्राम ने दर्शकों की खूब प्रशंसा हासिल की जिसके इंचार्ज नायब सूबेदार भुपिन्दर सिंह थे। सबसे पहले सिपाही अशोक कुमार के नेतृत्व वाली 5 मद्रास रैजमैंट के 10 जवानों की टीम द्वारा ‘कलारी प्याटू’ मार्शल आर्ट पेश किया गया। ‘कलारी प्याटू’ वह भारतीय मार्शल आर्ट है जिसकी शुरुआत केरला से हुई मानी जाती है। दूसरी तरफ़ नायब सूबेदार निमा शेरिंग शेरपा के नेतृत्व में 2/5गोरखा रैजमैंट फ्रंट फाईटरज़ 69 इंडियन इनफैंटरी ब्रिगेड की 21 सदस्यीय टीम ने ‘खुकरी’ नाच के साथ समय बांध दिया। खुकरी नाच मुख्य तौर पर गोरखों की नृत्य कला है। इसके बाद में सूबेदार दलविन्दर सिंह और नायक जगजीत सिंह के नेतृत्व अधीन 22 पंजाब की 21 सदस्यीय टीम ने पंजाब के प्रमुख मार्शल आर्ट ‘गतके’ के जौहर दिखाए। अंत में 36 मराठा मीडियम रैजमैंट की 40 जवानों की टीम ने ‘झंज पाठक’ नृत्य पेश करके महाराष्ट्र की इस नाच कला का प्रदर्शन किया। इस टीम का नेतृत्व सूबेदार हेमंत ए. दिओरे ने किया।
इस मौके पर नायब सूबेदार ने भुपिन्दर सिंह ने बताया कि यह प्रोग्राम फ़ौजी जवानों की तरफ से मार्शल आर्ट हुनर कलाओं के प्रदर्शन करने के मंतव्य से बनाया गया है। उन्होंने कहा कि विभिन्न फ़ौजी रैजमैंटों की यह प्रस्तुतीकरण रविवार तक जारी रहेंगी।
इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने विभिन्न राज्यों के भोजन की स्टालों और मिलिट्री आर्ट और फोटोग्राफी प्रदर्शनी में हाजिऱी लगवाई। इस दौरान संवाद प्रोग्राम के अंतर्गत विद्यार्थियों को जहाँ फ़ौजी जवानों के रूबरू होने का मौका मिला वहीं देश की तीनों सेनाओं संबंधीे दस्तावेज़ी फिल्मों का आनंद माना। गौरतलब है कि मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल शनिवार और रविवार को भी जारी रहेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
बरगाड़ी-बहबल कलां कांड में लोगों की कचहरी के मुख्य आरोपी हैं बादल: मान इंतकाल फीस 300 रुपए से बढ़ाकर 600 रुपए की, महामारी झेल रहे लोगों पर अतिरिक्त भार राज्य में खेल ढांचे की मज़बूती के लिए कड़े निर्देश शिरोमणि कमेटी के फ़ैसले से पंजाब के 3.5 लाख दूध उत्पादकों के पेट पर पड़ी लात: रंधावा पहलकदमी : बरनाला में घुटनों की तकलीफ के मरीजों का दूरबीन से इलाज डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा