ENGLISH HINDI Wednesday, January 29, 2020
Follow us on
 
पंजाब

अरबों लूटने वाली कंपनी को फिर से डीएल/आरसी बनाने का ठेका, डॉ. कमल सोई ने किया खुलासा

December 14, 2019 07:32 PM

चण्डीगढ़ : पंजाब में पिछले आठ वर्षों से ड्राइविंग लाइसेंस व आरसी बनाने के काम में जिस कंपनी ने लूट मचा रखी थी, उसी को फिर से यह काम करने का टेंडर मिल गया है। यह खुलासा आज सामाजिक कार्यकर्ता व अंतराष्ट्रीय रोड सेफ्टी एक्सपर्ट डॉ. कमल सोई ने चण्डीगढ़ प्रेस क्लब में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया के सामने किया।

उन्होंने बताया कि कि स्मार्टचिप नाम की यह कंपनी वर्ष 2011 से कांट्रेक्ट हासिल कर रही है व ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के 65 रुपये व आरसी बनाने के 136.5 रुपये वसूल करती है। जबकि केंद्रीय सरकार की कंपनी निक्सी (एनआईसीएसआई) यह दोनों काम महज 45 रुपये में करती आ रही है। इसमें मजे की बात यह है कि इतने वर्षों तक दो से तीन गुना रुपये ज्यादा वसूलने के बाद अब कंपनी ने जिस रेट पर ठेका हासिल किया है वह महज 32 रुपये का है और इससे भी ज्यादा मजे की बात है कि यही कंपनी उत्तर प्रदेश में इस काम को सिर्फ 24 रुपये प्रति ड्राइविंग लाइसेंस व आरसी बनाने में कर रही है।

डाटा लीक होने की भी संभावना जताई डॉ. सोई ने

डॉ. सोई ने इसके साथ ही एक अन्य महत्वपूर्ण मुद्दा उठाते हुए कहा कि आए दिन गूगल, फेसबुक व वाट्सएप द्वारा आम जनता की निजी जानकारियों से जुड़ा डाटा लीक करने की खबरें व आशंकाएं जताई जाती हैं। उन्होंने कहा कि इस दायरे में स्मार्टचिप कंपनी भी आती है क्योंकि यह विदेशी कंपनी मैसर्स मोर्फो की सबसिडरी है। जिसके पास स्मार्ट चिप कंपनी की 97 प्रतिशत शेयर होल्डिंग है। कंपनी जनता के सारे निजी डाटा को किसी भी अन्य कंपनी के साथ शेयर कर सकती है। पंजाब में तो यह मसला राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़़ा है क्योंकि पंजाब की सारी सीमा पाकिस्तान जैसे देश के साथ जुड़ी हुई है।

 
डॉ सोई, जो भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय प्रवक्ता व एनजीओ राहत (द सेफ कम्युनिटी फाउंडेशन) के चेयरमैन भी हैं, ने कहा कि यह सारी लूट दिन दिहाड़े व सबकी आंखों के सामने हो रही है परंतु नेताओं व अधिकारियों का कंपनी के साथ इतना मजबूत नेक्सस है कि कोई कुछ नहीं कर पा रहा है व कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है और हालात यह है कि जिस कंपनी का कांट्रेक्ट 2018 में रद कर दिया गया उसके बावजूद वह अभी तक कार्यरत है और अब आगे भी उसे काम दे दिया गया है।

इसके अलावा कंपनी द्वारा बरती जा रही अनियमितताओं के खिलाफ पंजाब के कई शहरों में न केवल एफआईआर दर्ज है बल्कि विजिलेंस की जांच भी चल रही है।

डॉ सोई ने बताया कि मैं पिछले कई सालों से इस बारे में बार बार प्रेस कांफ्रेस करके अथवा नेताओं, मंत्रियों व अधिकारियों से मिलकर इस धांधली को उठाते आ रहे हैं पर कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। पर अब कंपनी ने खुद ही 32 रुपये का रेट कोट करके असलियत सामने ला दी है, और इससे कई गंभीर सवाल भी पैदा हो रहे हैं।

उन्होने आरोप लगाया कि इसी कंपनी को ठेका देने के लिए कई नियमों व शर्तों में भी ठील दी गई है या बदलाव किया गया है। अगर पंजाब में औसतन 15 लाख डीएल या आरसी प्रतिवर्ष बनते हैं तो इस हिसाब से इस कंपनी ने अब तक 165 करोड़ रुपये यानी डेढ़ अरब रुपये से भी ज्यादा की जनता से लूट की है जो कि इससे वापिस लेनी चाहिए।वे इस रुपये की रिकवरी के लिए मीडिया के सामने आए हैं और इसके बाद कोर्ट व सीबीआई का भी दरवाजा खटखटाएंगे। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो पंजाब सरकार के पास कर्मचारियों को वेतन देने के लिए भी पैसे नहीं हैं वही दूसरी तरफ ऐसी लूट होने दी जा रही है जो कि सरासर गलत है।उन्होंने यह भी खुलासा किया कि पिछले कुछ ही महीनों में पांच से छह एसटीसी भी बदल दिए गए जिससे मामले की संगीनता और भी गहरी हो जाती है। 

डाटा लीक होने की भी संभावना जताई डॉ. सोई ने

डॉ. सोई ने इसके साथ ही एक अन्य महत्वपूर्ण मुद्दा उठाते हुए कहा कि आए दिन गूगल, फेसबुक व वाट्सएप द्वारा आम जनता की निजी जानकारियों से जुड़ा डाटा लीक करने की खबरें व आशंकाएं जताई जाती हैं। उन्होंने कहा कि इस दायरे में स्मार्टचिप कंपनी भी आती है क्योंकि यह विदेशी कंपनी मैसर्स मोर्फो की सबसिडरी है। जिसके पास स्मार्ट चिप कंपनी की 97 प्रतिशत शेयर होल्डिंग है। देश में जहां जहां भी इस कंपनी को काम मिला है वहां जनता के निजता के अधिकार के हनन की प्रबल संभावना है। कंपनी जनता के सारे निजी डाटा को किसी भी अन्य कंपनी के साथ शेयर कर सकती है। इसे रोकने का कोई प्रावधान या प्रबंध नहीं है। पंजाब में तो यह मसला राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़़ा है क्योंकि पंजाब की सारी सीमा पाकिस्तान जैसे देश के साथ जुड़ी हुई है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
सीमा सुरक्षा बल द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन फरवरी में श्री गुरु नानक देव जी की फिलास्फी पर अंतर्राष्ट्रीय कान्फ्रेंस करोना वायरस खतरे का पता लगाने के लिए हवाई अड्डा, अमृतसर में थर्मल सैंसर स्थापित रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया ने धूमधाम से मनाया गणतंत्र दिवस कैंसर की चपेट में गांव बडबर, 6 से अधिक लोगों की हो चुकी मौत अवैध माइनिंग के खिलाफ हरकत में आया प्रशासन, मुबारिकपुर घग्गर नदी पर बनाए अवैध पुल को तोड़ा स्टेट एंटी फ्रॉड यूनिट द्वारा 15 अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस जारी पानी मुद्दे पर अमरिन्दर सिंह ने सर्वदलीय बैठक बुलाई स्कूलों में खाली पड़े पदों की भर्ती प्रक्रिया शुरू करे सरकार: आप विचार पर काम करना सफलता की कुंजी है, न सिर्फ विचार करना: गोपालाकृष्णन