ENGLISH HINDI Monday, February 24, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
टीचर्स ने एग्जाम में नहीं दी ड्यूटी, अब बोर्ड ने बच्चों को जारी नहीं किए रोलनंबर: कुलभूषण शर्माफाइल पर देरी के लिए संबधित अधिकारी की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाएअखिल भारतीय पुलिस कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंचे देशभर से खिलाड़ीदृष्टि पंजाब ने 23 विद्यार्थी किए 11.50 लाख के अवार्ड से सम्मानितसोलन की पूर्व विधायक मेजर कृष्णा मोहिनी का निधन मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चाविशाल परमार बने मिस्टर चंडीगढ़: रीटा देवी ने जीता मिस चंडीगढ़ का खिताब एक भारत—श्रेष्ठ भारत पर चित्र प्रदर्शनी मनसा देवी मंदिर परिसर में आयोजित
पंजाब

पंद्रह साल से अधिक पुराने तिपहिया वाहनों को इलेक्ट्रिक/सीएनजी तिपहिया वाहनों से बदला जायेगा: पन्नू

January 23, 2020 01:30 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य में वायु प्रदूषण से निपटने के मद्देनजऱ तंदुरुस्त पंजाब मिशन के अंतर्गत वातावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग ने पंद्रह साल से अधिक पुराने तिपहिया वाहनों को इलेक्ट्रिक / सी.एन.जी तिपहिया वाहनों से बदलने को यकीनी बनाने का फ़ैसला किया है। यह जानकारी तंदुरुस्त पंजाब मिशन के डायरैक्टर काहन सिंह पन्नू ने दी।
उन्होंने बताया कि यह देखा गया है कि राज्य में 15 साल से अधिक पुराने तिपहिया वाहन बड़ी संख्या में चल रहे हैं परन्तु पंजाब मोटर वाहन नियम 1989 के नियम 68सी के मुताबिक कोई भी तिपहिया वाहन ऑटोरिक्शा 15 सालों से अधिक समय तक नहीं चलाया जा सकता। उन्होंने बताया कि पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने पहले ही जनवरी, 2019 से अमृतसर, जालंधर, लुधियाना, फतेहगढ़ साहिब और मोहाली जिले में नये डीज़ल/पेट्रोल थ्री वहीलरों का रजिस्ट्रेशन करने पर पाबंदी लगा दी है। दरअसल पटियाला और बठिंडा जिलों में भी ऐसे वाहनों पर पाबंदी लगाने का मामला बोर्ड के विचाराधीन है और आगामी माँग के मद्देजऱ इन दोनों जि़लों में सी.एन.जी सप्लाई स्टेशन हाल ही में स्थापित किये गए हैं।
श्री पन्नू ने कहा कि राज्य में ग़ैर कानूनी ढंग से चल रहे 15 साल से अधिक पुराने तिपहिया वाहन न सिर्फ प्रदूषण का बड़ा ख़तरा हैं बल्कि हादसों का बड़ा कारण भी बनते हैं। इसलिए पंजाब के बड़े शहरों में सी.एन.जी सप्लाई स्टेशन स्थापित किये गए हैं और इसके अलावा इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर भी उपलब्ध करवाए गए हैं।
उन्होंने कहा कि सभी बड़े शहरों के डिप्टी कमीश्नरों को पुराने तिपहिया वाहन को ख़त्म करने और इन पुराने वाहनों के मालिकों को गैस / इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहन चलाने का मौका देने के लिए कहा गया है। पन्नू ने कहा कि तंदुरुस्त पंजाब मिशन के अंतर्गत तबदीली की सुविधा के लिए, यह प्रस्ताव किया गया है कि जिला पुलिस के ट्रैफिक़ विंग के अधिकारियों, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड, ट्रांसपोर्ट विभाग और जिले के अग्रणी बैंकों के अफसरों वाली एक कमेटी डिप्टी कमिश्नर द्वारा गठित की जायेगी। इस कमेटी का नेतृत्व जिला प्रशासन का एक सीनियर अधिकारी करेगा। उन्होंने बताया कि पुराने तिपहिया वाहनों की बची हुई कीमत बहुत कम है क्योंकि इनकी मियाद पूरी हो चुकी है। बड़ी गैस/इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहन कंपनी ने पुराने तिपहिया वाहनों की कीमत 20,000 से लेकर 25000 रुपए देने के लिए सहमति जताई है। इन पुराने वाहनों को बड़ी भट्टियाँ के द्वारा नष्ट किया जायेगा जिससे इनको स्थायी तौर पर सडक़ों से दूर किया जा सके।
उन्होंने कहा कि यह सुझाव दिया गया है कि पुराने तिपहिया वाहन चालकों, जो नये गैस / इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहन प्राप्त करने के इच्छुक हैं, को मुद्रा स्कीम या सरकार की कोई अन्य स्कीम अधीन व्यापारिक बैंक से रियायती दर पर कजऱ् लेने की सुविधा दी जाये। ऐसे आवेदकों की सुविधा के लिए कैंप भी लगाए जा सकते हैं।
मिशन डायरैक्टर ने बताया कि उक्त फ़ैसले का उल्लंघन करने वालों के खि़लाफ़ मोटर व्हीकल एक्ट, 1988 के अंतर्गत करवाई की जायेगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
दृष्टि पंजाब ने 23 विद्यार्थी किए 11.50 लाख के अवार्ड से सम्मानित मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चा अवैध पुल व माईनिंग के खिलाफ विभाग ने दी पुलिस को शिकायत, पुलिस की जांच शुरु सर्वहितकारी विद्या मंदिर में वार्षिक कार्यक्रम सम्पन्न जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे, करंट वाली तार लगाने व अलग ख़ुफिय़ा विंग सहित कई फ़ैसलों की मंजूरी सरकारी संस्थानों के साईन बोर्ड, सडक़ों के मील पत्थर पंजाबी में लिखे जाना अनिवार्य: बाजवा हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ