ENGLISH HINDI Monday, February 24, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
टीचर्स ने एग्जाम में नहीं दी ड्यूटी, अब बोर्ड ने बच्चों को जारी नहीं किए रोलनंबर: कुलभूषण शर्माफाइल पर देरी के लिए संबधित अधिकारी की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाएअखिल भारतीय पुलिस कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लेने पहुंचे देशभर से खिलाड़ीदृष्टि पंजाब ने 23 विद्यार्थी किए 11.50 लाख के अवार्ड से सम्मानितसोलन की पूर्व विधायक मेजर कृष्णा मोहिनी का निधन मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चाविशाल परमार बने मिस्टर चंडीगढ़: रीटा देवी ने जीता मिस चंडीगढ़ का खिताब एक भारत—श्रेष्ठ भारत पर चित्र प्रदर्शनी मनसा देवी मंदिर परिसर में आयोजित
पंजाब

डेंगू, मलेरिया कंट्रोल करने के लिए उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों की तरफ विशेष ध्यान दिया जायेगा: सिद्धू

January 23, 2020 01:36 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य में डेंगू और मलेरिया के मामलों को कंट्रोल करने के लिए उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों की तरफ विशेष ध्यान दिया जाये जहाँ अधिक से अधिक ऐसे मामले सामने आते हैं। साल 2019 में मलेरिया के ज़्यादातर मामले ग्रामीण इलाकों में दर्ज किये गए और कुल मामलों में से 80 प्रतिशत मामले चार जिलों -बठिंडा, होशियारपुर, मानसा और मोहाली में दर्ज किये गए जबकि अजनाला, बटाला, फाजिल्का और नाभा के शहरी इलाकों में डेंगू के ज़्यादातर मामले सामने आए। यह खुलासा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने वैक्टर और पानी से होने वाली बीमारियों की रोकथाम और कंट्रोल सम्बन्धी स्टेट टास्क फोर्स की समीक्षा मीटिंग के दौरान किया।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि संक्रमित बीमारियों की रोकथाम और कंट्रोल के लिए हरेक विभाग द्वारा एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाना चाहिए जिससे विभागों के दरमियान बेहतर तालमेल को यकीनी बनाया जा सके।
स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि स्वास्थ्य विभाग प्रभावित मामलों की जांच और इलाज के लिए जि़म्मेदार है जबकि स्थानीय निकाय, ग्रामीण विकास और जल सप्लाई और सैनीटेशन विभाग की ड्यूटी स्वास्थ्य विभाग को बीमारी के फैलने संबंधी बताना है और उनके अधिकार क्षेत्र में बीमारी की रोकथाम के लिए अपेक्षित कार्यवाही करना है। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस समय स्वास्थ्य विभाग सभी हिस्सेदार विभागों को उनके क्षेत्रों में फैलने वाली बीमारियों संबंधी सूचित कर रहा है।
स्वास्थ्य मंत्री ने ग्रामीण विकास को राज्यभर के गाँवों में कीटनाशकों के छिडक़ाव के लिए कामगारों की सेवाएं लेने के लिए कहा। उन्होंने आगे कहा कि समय की ज़रूरत है कि ग्रामीण और दूर दराज के इलाकों में लोगों को वैक्टर और पानी के साथ पैदा होने वाली बीमारियों के प्रति जागरूक करने के लिए व्यापक मुहिम आरंभ की जाये जिससे ऐडीस एजिप्टी और ऐडीस एल्बोपिक्टस के प्रजनन को आरंभिक चरण पर ही रोका जा सके।
सिद्धू ने बताया कि राज्य के सभी शहरी इलाकों में एम.सी. एक्ट के अधीन उल्लंघन करने वालों (मच्छर प्रजनन वाले स्थानों) के चालान नहीं किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वातावरण को वैक्टर प्रजनन से मुक्त रखने के लिए यू.एल.बीज़ और समूह नगर निगम वॉटर सप्लाई, सिवरेज़, ड्रेनेज और ठोस अवशेष प्रबंधन के लिए प्रोग्राम तैयार और लागू करेंगे। उन्होंने कहा कि जो दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर रहे हैं उनके विरुद्ध भी सख्त कार्यवाही की जायेगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि बच्चों को मलेरिया के साथ-साथ डेंगू के लक्षणों के प्रति जागरूक करने के लिए स्कूलों में सैमीनार और आई.ई.सी. गतिविधियां करवाई जा रही हैं। स. सिद्धू ने ट्रांसपोर्ट विभाग को ज़ोर देकर कहा कि वह इस्तेमाल किए गए टायरों और स्क्रैप को तुरंत ढककर रखें और जि़लों में साप्ताहिक आधार पर वर्कशॉपों की जांच करें।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पंजाब में कोरोना वायरस का ख़तरा नहीं है और इस सम्बन्धी हिदायतें पहले की जि़लों को भेज दी गई हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
दृष्टि पंजाब ने 23 विद्यार्थी किए 11.50 लाख के अवार्ड से सम्मानित मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चा अवैध पुल व माईनिंग के खिलाफ विभाग ने दी पुलिस को शिकायत, पुलिस की जांच शुरु सर्वहितकारी विद्या मंदिर में वार्षिक कार्यक्रम सम्पन्न जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे, करंट वाली तार लगाने व अलग ख़ुफिय़ा विंग सहित कई फ़ैसलों की मंजूरी सरकारी संस्थानों के साईन बोर्ड, सडक़ों के मील पत्थर पंजाबी में लिखे जाना अनिवार्य: बाजवा हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ