ENGLISH HINDI Wednesday, April 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
किसानों और दानी सज्जनों को गौशालाओं में चारा पहुँचाने की अपीलसिविल अस्पताल में सेनेटाईजेशन चेंबर स्थापित14 अप्रैल से सूर्य के राशि परिवर्तन से कोरोना का धीरे धीरे प्रभाव कम होगाशरीर कैसे छोडऩा है दादी पहले से ही कर ली थी प्लानिंग, दादी जी नही चाहती थी कि उनके शरीर छोडऩे पर ज्यादा खर्च होकोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसाबकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौतट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूटकोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल
हरियाणा

महापुरुषों की जयंतियां उनके जीवन पर शिक्षाओं पर कार्यक्रम आयोजित करके मनाई जाए: मुख्यमंत्री

February 18, 2020 06:09 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
महापुरुषों की जयंतियों को शैक्षणिक और अन्य संस्थानों में उनके जीवन और शिक्षाओं पर आधारित विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करके मनाया जाना चाहिए ताकि लोगों में काम करने की भावना उत्पन्न हो सके। इस प्रकार हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं।
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल आज पंचकूला में विधायकों के साथ तीन-दिवसीय पूर्व-बजट परामर्श बैठक 2020-21 के दूसरे दिन स्वामी दयानंद सरस्वती जी की 197वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती एक बहुमुखी व्यक्तित्व के धनी थे और उन्होंने धर्म, शिक्षा, आध्यात्मिकता और महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में कई पहल की। उन्होंने कहा कि स्वामी दयानंद जी ने देश के स्वतंत्रता संग्राम में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस और वीर सावरकर जैसे कई अन्य महापुरुषों ने भी विभिन्न अवसरों पर अपने भाषणों में लोगों के बीच स्वतंत्रता की लौ जगाने में उनके योगदान को स्वीकार किया है।
उन्होंने कहा कि महापुरुषों का हमारे समाज में एक विशेष महत्व है और समय-समय पर उनकी जयंतियां मनाई जाती हैं ताकि युवा पीढ़ी उनके जीवन से प्रेरणा ले सके। इसी श्रृंखला में, राज्य सरकार द्वारा भी महापुरुषों की जयंतियों को उचित रूप से मनाने के लिए राज्य स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इनमें श्री गुरु रविदास जयंती, महर्षि वाल्मीकि जयंती, कबीर जयंती, श्री गुरु नानक देव जी और दसवें सिख गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी का प्रकाशोत्सव प्रमुख हैं।
मुख्यमंत्री ने विभिन्न समुदायों से अपील की कि वे महापुरूषों की जयंतियों को उस दिन उनके जीवन और शिक्षाओं पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन करके मनाएं।
अपने स्वागत भाषण में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव और सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजेश खुल्लर ने स्वामी दयानंद सरस्वती जी के उच्च मूल्यों और शिक्षाओं को स्मरण करने उपरांत, विधायकों के साथ बजट-पूर्व परामर्श बैठक 2020-21 के दूसरे दिन की कार्यवाही शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि स्वामी जी ने राजनीतिक और सामाजिक रूप से देश को एक नई दिशा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
इस अवसर पर बोलते हुए आचार्य जयवीर वैदिक ने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती जी 1857 की क्रांति के दौरान स्वतंत्रता सेनानियों के लिए मुख्य मार्गदर्शकों में से एक थे। उन्होंने कहा कि स्वामी जी ने हमेशा मानवता, वेदों और आपसी सद्भाव के लिए प्रचार किया। समाज में महिलाओं के उत्थान के लिए उनके द्वारा किए गए कार्यों के परिणामस्वरूप ही आज महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठित मंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजर कोविड-19 संक्रमण की भ्रामक सूचना पर साइबर सेल की पैनी नज़र, गलत पोस्ट पर हो सकती है सजा एक आईएएस अधिकारी स्थानांत्रित निजी विद्यालयों को निर्देश: फीस जमा करवाने पर तत्काल प्रभाव से रोक पर्यटक वीजा पर भारत आए तबलीगी जमात के 107 लोगों की पहचान हरियाणामें की गई, एफआईआर भी दर्ज कोविड-19 के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान, तंबाकू उत्पादों का सेवन निषेध निजी अस्पतालों के डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिक्स, अन्य कर्मचारियों को भी एक्सग्रेशिया मुआवजे की घोषणा हरियाणा में 70,000 लोगों की क्षमता के 467 राहत शिविर स्थापित हरियाणा सरकार का कोविड-19 फाइनेंशियल सपोर्ट ऐलान