ENGLISH HINDI Wednesday, April 08, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
शरीर कैसे छोडऩा है दादी पहले से ही कर ली थी प्लानिंग, दादी जी नही चाहती थी कि उनके शरीर छोडऩे पर ज्यादा खर्च होकोविड-19 के विरुद्ध जंग में महान योगदान के लिए मैडीकल समुदाय की प्रशंसाबकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौतट्राईडेंट उद्योग समूह जिला के सेहत विभाग को देगा 10 हजार मेडीकल सूटकोरोना वायरस से मारे गए लोगों की अंतिम रस्में निभाने संबंधी हिदायतें जारी हों : ग्रेवाल जमाखोरी, कालाबाजारी और मूल्य वृद्धि को नियंत्रण के लिए विशेष टीमें गठितमंडी में पहुंचने वाले किसान को मिलेगा मास्क और सैनिटाइजरनिजामूद्दीन मरकज़ में तबलीगी जमात में भाग लेने वालों को दी 24 घंटों की अंतिम समय-सीमा
हिमाचल प्रदेश

ज्वालामुखी: सडक़ें बदहाल, पेयजल योजनाओं के भी बुरे हाल

February 22, 2020 05:30 PM

 ज्वालामुखी, (विजयेन्दर शर्मा)
कांग्रेस प्रवक्ता ज्वालामुखी के पूर्व विधायक संजय रतन ने आरोप लगाया कि भाजपा ने ज्वालामुखी के लोगों को विकास के नाम पर छला है। विधानसभा चुनावों में भाजपा ने लोगों को गुमराह कर वोट तो हासिल कर लिये, लेकिन जो वायदे चुनावों में किये गये, उन्हें पूरा करने के बजाये अब ठेंगा दिया। जिससे ज्वालामुखी में विकास ठप्प होकर रह गया है।
यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुये पूर्व विधायक ने कहा कि 2 साल के कार्यकाल के दौरान स्थानीय विधायक रमेश धवाला एक भी पैसा ज्वालामुखी के विकास के लिये लाने में कामयाब नहीं हो पाये हैं। जिससे लोगों अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि धवाला ने जो भी उद्घाटन किये हैं,उन्हें कांग्रेस राज में ही स्वीकृत करवाया गया ,और धन भी मुहैया करवाया गया। भाजपा सरकार बनने के 2 साल बाद अब तक ज्वालामुखी में विकास का कोई काम नहीं हो रहा। अब धवाला बहाना बना रहे हैं कि सीएम उनकी नहीं सुनते। लेकिन अब भाजपा को जनता सबक सिखायेगी।
उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस शासनकाल में शुरू हुए विकास कार्यों को रोका गया। ज्वालामुखी में चल रहे कई विकास कार्य बंद करवा दिये गये है। जो कि एक गलत परंपरा है। इलाके की सडक़ें बदहाल है। पेयजल योजनाओं के भी बुरे हाल है। उन पर ध्यान नहीं दिया जा रहा। ईमानदारी का चोला पहनने वाले विधायक अपने रिशतेदारों को नियम कायदों को ताक पर रख कर ठेके दिलवाने के लिये अफसरों पर दवाब डालते रहे हैं। धवाला जिस तरीके से सरकारी कर्मचारियों को डराने धमकाने की राजनिति कर रहे हैं। वह गलत है।
संजय रतन ने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में खुंडियां में एक सप्ताह के तीन दिन के लिये ज्वालामुखी के एसडीएम को वहां बिठाने की योजना थी। ताकि चंगर के लोगों को उनके घर द्धार प्रशासन की सुविधा मिलती। लेकिन नई सरकार बनने के बाद यह सब ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
बीज, खाद तथा कीटनाशक दवाइयों की दुकानें भी खुलेंगी सार्वजनिक स्थानों पर एक मीटर की दूरी नहीं तो होगी एफआईआर कोरोना से जंग में जनप्रतिनिधियों के वेतन भत्ते में कटौती स्वागत योग्य कदम एक्टिव केस फाईंडिंग अभियान के तहत 23 लाख व्यक्तियों की स्वास्थ्य जानकारी प्राप्त शहीद बालकृष्ण का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, मुख्य मंत्री जयराम ठाकुर ने शोक जताया, गोविंद सिंह ठाकुर ने दी श्रद्धांजलि मीडिया में कोविड-19 बारे अप्रमाणिक समाचारों को रोकने का आग्रह देश के करोड़ों देशवासी लॉकडाउन का पालन कर देश को बचाने में लगे हैं तब्लीगी जमात में भाग लेने वालों की दें त्वरित सूचना राज्यपाल ने की कुलपतियों के साथ चर्चा पुलिस को पीपीई किट व एन-95 मास्क के लिए एक करोड़ रुपये की स्वीकृति