ENGLISH HINDI Thursday, April 09, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
कोविड -19 खिलाफ जंग में डटे सेहत विभाग के अमले व सफाई कर्मियों को दिया गार्ड आफ ऑनर15000 लोगों को होम क्वारंटीन के निर्देशपुलिस द्वारा फेसबुक पर अपमानजनक और आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला गिरफ़्तारहोम क्वारंटीन की उल्लंघना करने पर एक के खिलाफ एफआईआर: डीसीडेराबस्सी में कोरोना पॉजिटिव के चार और मामले, ढिल्लों की रिपोर्ट नेगेटिव14 अप्रैल के बाद कफ्र्यू को और आगे बढ़ाने की रिपोर्टों को रद्द कियाप्रधानमंत्री श्री मोदी ने राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ किया विचार-विमर्शकोविड-19 के मद्देनजर जरूरतमंदों में वितरण हेतु केंद्रीय भंडार द्वारा निर्मित 2200 से ज्‍यादा आवश्‍यक किट्स सौंपी
हिमाचल प्रदेश

आशा और मीना के जीवन में मुस्कान लाई हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना

February 22, 2020 05:32 PM

कुल्लू, विजयेन्द्र शर्मा:
आशा अपनी खराब माली हालत के चलते गैस कनेक्शन नहीं खरीद पा रही थी। उसके पति रविन्द्र सिंह का कुछ वर्ष पूर्व देहावसान हो चुका है। स्कूल पढ़ने वाली दो बेटियों का लालन-पालन आशा के लिए मुश्किलों भरा है। घर में गैस कनेक्शन न होने से सुबह-सुबह परेशानी और भी बढ़ जाती थी, जब विशेषकर बारिश के दिनों गीली-सूखी लकड़ी से चूल्हा जलाने में बड़ी जद्दोजहद करनी पड़ती और बामुश्किल बेटियों को समय पर स्कूल भेज पाती थी।
कुल्लू की पीज पंचायत के बाईन गांव की आशा देवी को जनमंच वरदान बन गया, जब आशा ने महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन बांटते देखा। फिर क्या था, उसने झट से पता करने की कोशिश की कि क्या उसे भी मुफ्त में गैस कनेक्शन मिल सकता है। अपनी ग्राम पंचायत के प्रधान भुवनेश्वर को साथ लेकर आशा ने संबंधित विभाग के अधिकारी से बातचीत करके औपचारिकताओं के बारे में जाना। तुरंत दस्तावेज ग्राम पंचायत के माध्यम से गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन के लिए जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक के कार्यालय में जमा करवाए।
अब आशा देवी के पास अन्य गांव वालों की तरह गैस कनेक्शन है। उन्हें अब लकड़ियां एकत्रित करने के लिए जंगलों में नहीं भटकना पड़ता। धुएं से जो निजात मिली है, उसे सबसे बड़ा सुकून मानती है आशा। इससे दोनों बेटियों को भी बड़ी राहत मिली है। वे समय पर स्कूल जा पाती हैं और स्कूल से आकर जब भी मन करे स्वयं खाना बना लेती हैं।
आशा कहती है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर जी की हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना सचमुच मेरे लिए वरदान सिद्ध हुई है। धुएं से आंखों की रोशनी को नुकसान के साथ-साथ संभावित अन्य बीमारियों की आशंका से भी निजात मिली है।
इसी प्रकार, पीज गांव की मीना को अपनी ढलती आयु और आंखों की मंद होती लौ के कारण अक्सर लकड़ी से चूल्हा जलाने में दिक्कत होती थी। मीना ने पंचायत के प्रधान से मुफ्त गैस कनेक्शन प्राप्त करवाने का आग्रह किया। कुछ ही दिनों में मीना को गैस कनेक्शन प्राप्त करने के लिए विभाग से फोन आ गया। सुनकर उसकी खुशी का ठिकाना न रहा। मानो उसने जिंदगी में कितनी कुछ हासिल कर लिया। बहुत अर्से से रसोई में गैस को लेकर मीना की ख्वाहिश थी, लेकिन कभी खरीद ही नहीं पाई और पारिवारिक स्थिति भी ऐसी नहीं थी कि वह अन्य आवश्यक खर्चों को छोड़ गैस कनेक्शन खरीद पाए।
मीना अब शान से राहगिरों को भी चाय पिलाकर ही भेजती है। वह कहती है कि गैस आज के जमाने में न केवल रसोईघर की आवश्यकता है, बल्कि सामाजिक स्तर को भी बढ़ाने में मददगार है। अब वह बिना किसी हिचकिचाहट के मेहमानों का अच्छे से सत्कार कर पाती है जिसमें उन्हें बहुत सुकून और खुशी मिलती है। मीना का मानना है कि हर रसोई में गैस होने से जंगलों का भी दुरूपयोग बच रहा है। पर्यावरण भी साफ-सुथरा होगा, जिससे हमारा हिमाचल और भी खूबसूरत लगेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
15000 लोगों को होम क्वारंटीन के निर्देश होम क्वारंटीन की उल्लंघना करने पर एक के खिलाफ एफआईआर: डीसी तबलीगी जमात के कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के नजदीकी लोगों का पता लगाने निर्देश बीज, खाद तथा कीटनाशक दवाइयों की दुकानें भी खुलेंगी सार्वजनिक स्थानों पर एक मीटर की दूरी नहीं तो होगी एफआईआर कोरोना से जंग में जनप्रतिनिधियों के वेतन भत्ते में कटौती स्वागत योग्य कदम एक्टिव केस फाईंडिंग अभियान के तहत 23 लाख व्यक्तियों की स्वास्थ्य जानकारी प्राप्त शहीद बालकृष्ण का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, मुख्य मंत्री जयराम ठाकुर ने शोक जताया, गोविंद सिंह ठाकुर ने दी श्रद्धांजलि मीडिया में कोविड-19 बारे अप्रमाणिक समाचारों को रोकने का आग्रह देश के करोड़ों देशवासी लॉकडाउन का पालन कर देश को बचाने में लगे हैं