ENGLISH HINDI Tuesday, July 07, 2020
Follow us on
 
हरियाणा

गन्नौर स्थित अंतरराष्ट्रीय फल-फूल, सब्जियां एवं डेयरी उत्पाद टर्मिनल में अगस्त तक कारोबार शुरू

March 01, 2020 12:21 PM

चण्डीगढ़, फेस2न्यूज:
गन्नौर स्थित भारत अंतरराष्ट्रीय फल-फूल, सब्जियां एवं डेयरी उत्पाद टर्मिनल (आईआईएचएम) में इसी वर्ष अगस्त तक कारोबार शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए प्रथम चरण में 196 मीटर लंबा व 56 मीटर चैड़ा शैड बनकर तैयार है और इस शैड में 48 दुकानें शुरू की जाएंगी।
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल गन्नौर में मंडी का दौरा करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि गन्नौर स्थित यह मंडी क्षेत्र ही नहीं बल्कि प्रदेश में भी रोजगार के नए अवसर पैदा करेगी और यहां हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि पहले चरण के लिए जो शैड तैयार किया गया है उसमें व्यापारियों के लिए सभी सुविधाओं से युक्त दुकानें, माल लेकर आने वालों के ठहरने की व्यवस्था, पार्किंग की व्यवस्था सहित अन्य जरूरी सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि अप्रैल तक निर्माण कार्य इसका काम पूरा कर लिया जाएगा। अगले दो माह में मंडी के लिए पालिसी तैयार कर अलॉटमेंट व अन्य कार्य किए पूरे किए जाएंगे और अगस्त से कारोबार शुरू कर दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मंडी का यह बहुत बड़ा प्रोजेक्ट है और हम एक-एक चरण को पूरा कर इसमें आगे बढ़ेंगे। इससे पहले श्री मनोहर लाल ने अधिकारियों के साथ मंडी के शैड का निरीक्षण किया और अधिकारियों को निर्देश दिए कि मंडी में व्यापारियों, किसानों और ग्राहकों को कोई दिक्कत न आए इसके लिए सभी व्यवस्थाएं बेहतर ढंग से सुनिश्चित की जाएं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने मंडी के लिए अधिग्रहित की गई जमीन जिसमें 68 किसान शामिल हैं उन्हें प्लाट देने के लिए निर्धारित स्थान का निरीक्षण किया। इसके साथ ही मंडी की जमीन पर अवैध रूप से रहने वाले उन 171 लोगों के लिए भी जमीन देखी जहां उन्हें एक लाख 66 हजार रुपये कीमत पर दो मरले का प्लाट उपलब्ध करवाया जाना है। इस संबंध में उन्होंने रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए और कहा कि इस पर वह बाद में निर्णय लेंगे।
इसके बाद मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल आनंदमूर्ति गुरू माँ के श्री ऋषि चैतन्य आश्रम भी गए, जहां उन्होंने गुरू मंदिर में दर्शन किये। इस मौके पर स्वामी अनंतानंद के नेतृत्व में मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया और शंखनाद के साथ वैदिक मंत्रोच्चारण भी किया गया। मुुख्यमंत्री ने आश्रम का भ्रमण करते हुए सप्तऋषि सभागार का भी भ्रमण किया, जिसकी क्षमता पांच हजार है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें