ENGLISH HINDI Friday, April 03, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
मरकज की तब्लीगी जमात से लौटे छह नागरिकों की पहचान: डीसी सोशल डिस्टेंसिंग से ही बचा जा सकता है कोरोना सेनेतागिरी चमका रहे राजसी नेताओं पर नहीं कसा जा रहा शिकंजाकोविड-19 से लड़ने में युद्ध स्तर पर जुटे सीएसआईआर के वैज्ञानिकराष्ट्रपति करेंगे राज्यपालों, लेफ्टिनेंट गवर्नरों एवं राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश प्रशासकों के साथ कोविड-19 पर चर्चादेश के 410 जिलों में कराया गया राष्‍ट्रीय कोरोना सर्वेक्षण जारीलक्ष्य ज्योतिष संस्थान ने जरूरतमन्द लोगों में भोजन बांटालॉक डाउन: डोर टू डोर गार्बेज कलेक्टर यूनियन ने प्रधानमंत्री को समस्याओं और मांगों से ट्वीट कर करवाया अवगत
हरियाणा

पुलिस आम जनता के साथ शिष्टाचार से पेश आए: मुख्यमंत्री

March 06, 2020 10:10 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज कहा कि पुलिस आम जनता के साथ शिष्टाचार से पेश आए और मित्रवत व्यवहार करे तभी जनता का पुलिस में विश्वास बढ़ेगा और लोग विपत्ति में मदद के लिए पुलिस के पास जाएंगे।
श्री मनोहर लाल आज गुरुग्राम में तृतीय युवा पुलिस अधीक्षक सम्मेलन तथा द्वितीय पुलिस एक्सपो के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। इस सम्मेलन और एक्सपो का थीम ‘प्रभावी और कुशल पुलिसिंग के लिए नए युग के समाधान’ था, जिसमें देश भर से 150 से अधिक युवा पुलिस अधीक्षकों तथा 112 से ज्यादा कंपनियों ने अपने स्टॉल लगाए थे। यह सम्मेलन तथा एक्सपो हरियाणा पुलिस, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो (बीपीआर एंड डी) तथा फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स आफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री(फिक्की) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया था।
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि जब तक जनता की खुशहाली सुनिश्चित नही करेंगे तब तक देश आगे नही बढ़ सकता। उद्योगों की स्थापना तथा व्यापार के लिए भी शान्तिपूर्ण माहौल आवश्यक है। देश को 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनोमी क्लब में शामिल होना है उसके लिए वातावरण शान्तिपूर्ण होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि विदेशी निवेशक तथा देश में भी उद्यमी उसी राज्य में निवेश करने जाएंगे जहां का ईज ऑफ डूइंग बिजनेस अच्छा होगा और जिस प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बेहतर होगी। मुख्यमंत्री ने पुलिस की कार्यशैली को सरकार की कार्यप्रणाली का आईना बताते हुए कहा कि स्मार्ट पुलिसिंग भी स्मार्ट सिटी प्रौजेक्ट का एक हिस्सा था। स्मार्ट पुलिसिंग से तात्पर्य है ऐसी पुलिस जो चौकन्नी, प्रशिक्षित, संवेदनशील, जिम्मेदार व पारदर्शिता से काम करे।
मुख्यमंत्री ने साइबर क्राइम को नई चुनौती बताते हुए कहा कि इसके समाधान के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में दो साइबर क्राइम के सैल हैं जिनमें से एक गुरुग्राम तथा दूसरा पंचकूला में हैं। गुरुग्राम में डाईटैक तथा जीपीएस आधारित इंटीग्रेटिड कमांड एंड कंट्रोल सैंटर भी है जिसमे 35 हजार सीसीटीवी कैमरो के माध्यम से कानून व्यवस्था पर नजर रखी जा रही है। श्री मनोहर लाल ने बताया कि हरियाणा प्रदेश में लगभग 2 लाख सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं तथा एक लाख और सीसीटीवी कैमरे लगाकर दूसरे शहरों में भी कमांड एंड कंट्रोल सैंटर स्थापित किए जाएंगे।
उन्होंने युवा पुलिस अधीक्षकों से कहा कि हमारी व्यवस्था पुरानी है जिसमें अच्छाइयां भी हैं और बुराइयां भी, अच्छाइयों को अपनाएं और बुराइयों को त्याग दें। व्यवस्था में खराबी को दूर करने के लिए ‘विल पावर’ अर्थात् इच्छाशक्ति की जरूरत होती है। मुख्यमंत्री ने उदाहरण के साथ समझाया कि समाज में व्यवस्था ठीक करते समय अलर्ट रहे, कहीं बुराइयां आप पर हावी ना हो जाएं। उन्होंने कहा कि बुराइयां भर्ती के स्तर से शुरू होती है। इसमें पहले भाई भतीजावाद तथा भ्रष्टाचार चलता था लेकिन हरियाणा में वर्तमान भाजपा सरकार ने मैरिट के आधार पर भर्तियां शुरू की जिससे उच्च शिक्षित व्यक्ति भी पुलिस में भर्ती होने लगे। उन्होंने ये भी कहा कि ट्रैनिंग के बाद भी यदि कोई सिपाही के पद पर भर्ती हुआ युवा अपनी बेहतरी के लिए दूसरी जगह जाना चाहता है तो उसे इसकी अनुमति है, इसके लिए विभाग से एनओसी लेने की अनिवार्यता भी हमने खत्म कर दी है।
उन्होंने जनता के साथ मिलकर काम करने की सलाह युवा पुलि अधीक्षकों को देते हुए कहा कि वे जनता के साथ अपना संवाद बढ़ाएं और इसके लिए थीम देकर कम्युनिटी मोबिलाइजेशन के कार्यक्रम करवाएं, जिसमें पुलिस सक्रिय भूमिका निभा सकती है। मुख्यमंत्री ने बताया कि हरियाणा प्रदेश में राहगिरी , मैराथन दौड़ आदि के कम्युनिटी मोबिलाइजेशन के कार्यक्रम करवाए जा रहे हैं। जनता इन कार्यक्रमों में शामिल होगी तो वह कानून का पालन करेगी।
इससे पहले अपने विचार रखते हुए बीपीआर एंड डी के महानिदेशक वी एस के कौमुदी ने कहा कि यह सम्मेलन तथा एक्सपो युवा पुलिस अधिकारियों को बेहतर पुलिस प्रणाली को जानने और अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का मंच प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि पुलिस की अत्याधुनिकता में फिक्की की होमलैंड सिक्योरिटी कमेटी सक्रिय भागीदार है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए दूरदर्शिता आवश्यक है तभी हमारी राष्ट्रीय सीमाओं तथा संपत्ति की रखवाली हो सकेगी। श्री कौमुदी ने बताया कि सन् 2014 से 2019 के दौरान पुलिस द्वारा उपयोग में लाए गए अत्याधुनिक उपकरणों की सूची ब्यूरों के सार संग्रह में दी गई है। उन्होंने देश के गृहमंत्री अमित शाह के कथन का उल्लेख करते हुए कहा कि श्री शाह ने कहा है कि लोगों को लाभ तभी मिलेगा जब पुलिस प्रणाली में सुधार होगा।
फिक्की की होमलैंड सिक्योरिटी कमेटी के चेयरमैन राहुल चौधरी ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए देश में सुरक्षित माहौल बनाने के लिए सुरक्षा दलों को अत्याधुनिक और श्रेष्ठ तकनीक उपलब्ध करवाने में फिक्की द्वारा शुरू की गई नई पहलों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि पिछले 4-5 वर्षों में फिक्की द्वारा पुलिस को सबल तथा सुदृढ़ बनाने के लिए प्लैटफार्म तैयार किया गया है। भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक ले जाने के लिए बार्डर प्रबंधन,साइबर प्रबंधन, ड्रोन आदि कई पहलुओं पर काम किया गया है। उन्होंने कहा कि फिक्की ने रक्षा उपकरण बनाने वाले उद्यमियों तथा उनके प्रयोगकर्ताओं अर्थात् सुरक्षा बलों के बीच सेतु का काम किया है। श्री चैधरी ने कहा कि एक अनुमान के अनुसार देश में हर साल सडक़ दुर्घटनाओं में भारी जान माल का नुकसान होता है। एक परिवार का पोषक चला जाता है जिससे पूरा परिवार प्रभावित होता है। उन्होंने गुरूग्राम को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप(पीपीपी)सिटी बताते हुए कहा कि गुरूग्राम ने देश को एक ग्रोथ मॉडल दिया है। यह पहले मारूति के आने से मैन्युफैक्चर हब था उसके बाद ट्रांसफोर्म होकर आईटी और आईटीईएस सिटी बना और अब मैडिकल टूरिज्म के लिए संभावनाएं सृजित कर रहा है।
हरियाणा पुलिस के महानिदेशक मनोज यादव ने कहा कि यह सम्मेलन युवा पुलिस अधिकारियों के महत्वपूर्ण व उपयोगी साबित होगा। उन्होंने बताया कि पिछले 5 वर्षों में हरियाणा में महिलाओं के विरूद्ध अपराधों से निपटने के लिए प्रदेश में महिला थाने स्थापित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि महिलाओं के विरूद्ध अपराधों का शीघ्र निपटारा करने में हरियाणा देश में दूसरे स्थान पर है। साथ ही उन्होंंने बताया कि सडक़ दुर्घटना मे कमी लाने के लिए हरियाणा विजन जीरों नामक कार्यक्रम शुरू किया गया है जिसकी वजह से पिछले 3 वर्षों में सडक़ दुर्घटनाओं में 4 प्रतिशत कमी आई है। उन्होंने कहा कि हम इसे 20 प्रतिशत तक कम करने के लिए प्रयासरत है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
निजी अस्पतालों के डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिक्स, अन्य कर्मचारियों को भी एक्सग्रेशिया मुआवजे की घोषणा हरियाणा में 70,000 लोगों की क्षमता के 467 राहत शिविर स्थापित हरियाणा सरकार का कोविड-19 फाइनेंशियल सपोर्ट ऐलान प्रवासी मजदूरों की मूवमेंट के दृष्टिगत सभी अंतर्राज्यीय और अंतर-जिला सीमाएं सील करने के निर्देश हरियाणा : कोरोना रिलीफ फंड में 5 करोड़ दिए सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग की जिम्मेवारी बढ़ी: मीणा कोरोना के चलते एक महीने तक बिजली विभाग के सभी कैश काउंटर बंद, सारचार्ज से छूट सरसों और गेहूं की खरीद के व्यापक प्रबंधों के निर्देश कोरोना से निपटने को सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग जरूरी: कोविन्द हरियाणा में तीन महीने की अवधि के लिए नियुक्त होंगे तक्नीकी कर्मचारी