ENGLISH HINDI Tuesday, July 07, 2020
Follow us on
 
हरियाणा

मोरनी से कंट्रोल्ड एरिया हटाने की मांग: चौधरी

March 07, 2020 09:09 PM

चंडीगढ़ (मनोज शर्मा) पी-बजट से लेकर बजट सैशन में मोरनी से कंट्रोल्ड एरिया हटाने की पुरजोर मांग की गई और यहां तक मोरनी को पहाड़ी क्षेत्र का दर्जा देने की मांग रखीं ताकि नाम्र्स में छूट मिल सके और मोरनी क्षेत्र की ऐसी समस्याएं, जिनमें नाम्र्स सामने आते है, वो दूर हो सके। उक्त शब्द शनिवार को कालका निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी के विधायक प्रदीप चौधरी ने मोरनी के थापली, भोज टिपरा के धामण गांव में कैनणा, चपलाणा, टिपरा, सूग, भरेज, हरसों, बड़ी शेर में भोज कोटी, काठी मामल, पथरोटी, भोज कोठी, छामला, दारड़ा के ग्रामीणों को आयोजित नुक्कड़ सभाओं में बोलते हुए कहें। इससे पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी ने लोगों का विधानसभा चुनावों में दिए सहयोग-समर्थन के लिए आभार जताया और जिन लोगों ने मौके पर समस्याएं दी, उनका समाधान करने के लिए अधिकारियों से बातचीत की।
विधायक चौधरी ने कहा कि वन मंत्री कंवर पाल गुर्जर से भी मुलाकात कर मोरनी में पर्यटन को बढ़ावा देने की मांग उठाई गई। चौधरी ने कहा कि आज मोरनी जैसा क्षेत्र पीने के पानी की गंभीर समस्या से जुझ रहा है और यहां बसों की इतनी कमी है कि लोगों का पूरा दिन अपने गंतव्य तक पहुंचने में गुजर जाता है। स्कूल-कॉलेज में जाने वाले छात्र-छात्राओं को बसों की समस्या के कारण पैदल ही सफर तय करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को पूरा करने में नाम्र्स का अडग़ा लग जाता है। ऐसे में सरकार को चाहिए ऐसे दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र के लिए कम से कम महिलाओं की डिलीवरी के लिए डिलवरी हट बनाएं जाए।
करोड़ों का घोटाला कर रोड़ पर दो महीने पहले लगाएं डंगे टूटे: चौधरी
वैसे तो भाजपा सरकार जीरो-टोलरेस का दावा करती है। लेकिन उनकी सरकार में मोरनी में करोड़ों के ऐसे घोटालों को अंजाम दिया जा रहा है। जहां सडक़ों और उनके डंगों में लगने वाले मैटीरीयल की घटिया क्वालिटी से समझौता कर कुछ लोगों को फायदा पहुंचाने का प्रयास किया। सरकार से हमारी मांग है कि मोरनी में लगे डंगों की जांच विजीलैंस से करवाई जाए और जिन लोगों ने सरकार और पब्लिक के पैसे को लूटने का काम किया। उन पर सरकार कड़ी कार्रवाही करें।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें