ENGLISH HINDI Sunday, March 29, 2020
Follow us on
 
हिमाचल प्रदेश

महिलाओं का उत्थान सरकार की प्राथमिकता

March 08, 2020 06:35 PM

धर्मशाला, (विजयेन्दर शर्मा) उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर ने कहा कि किसान हिमाचल की रीड़ है, इसिलिए सरकार द्वारा पेश किए गए बजट में किसानों का विशेष ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा इस बजट में जिन वर्गों का सबसे अधिक ध्यान रखा गया है, उनमें किसान एक हैं। उद्योग मंत्री जस्वां प्रागपुर विधानसभा क्षेत्र के प्रागपुर में आयोजित किसान कल्याण कार्यशाला में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि जस्वां प्रागपुर विधानसभा क्षेत्र में जो भी किसान महनत करके अच्छा कार्य करना चाहता है और उसके पास संसाधनों की कमी है, तो उसकी सहायता वह करेंगे। उन्होंने कहा कि यदि विभाग के अधिकारी अच्छा काम करने वाले 4-5 किसानों का नाम उन्हें देते हैं, तो उनको गोद लेने का कार्य वह करेंगे। उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा बाढ़ बंदी हेतु जिला कांगड़ा को लगभग 10 करोड़ दिया गया, जिसमें से केवल जस्वां प्रागपुर विधान सभा क्षेत्र में 40 हेक्टेयर भूमि में 2.25 करोड़ की लागत से बाढ़ बंदी की गई, जो पूरे जिले में सबसे अधिक है।
उन्होंने कहा कि केवल जस्वां प्रागपुर विधान सभा क्षेत्र में सरकार द्वारा सहायता प्राप्त करके लगभग 17 किसानों को खेती के लिए ट्रैक्टर उनलब्ध कराए गए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की सहायता के लिए करोड़ों की लागत से जस्वां प्रागपुर में लगभग 200 नलकूप लगाए गए। इसके अतिरिक्त जस्वां प्रागपुर विधान सभा क्षेत्र में लगभग 50 लाख रूपये की लागत से चेक डैम और 35 लाख की लागत से कूल्हों का निर्माण किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि इस वर्ष के बजट में प्रदेश सरकार ने लगभग एक लाख किसानों को प्राकृतिक खेती से जोड़ने का लक्ष्य रखा है। जिसके तहत प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना पर सरकार द्वारा 25 करोड़ रूपया खर्च किया जाएगा। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों से लोगों को प्राकृतिक खेती की ओर प्रेरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों के उत्पादन की बिक्री के लिए भी विभाग व्यवस्था करे।
इस अवसर पर उपनिदेशक कृषि विभाग डॉ. एन.के धीमान ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया तथा किसानों को कृषि संबंधित योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। इस दौरान उद्योग मंत्री ने किसानों से संवाद स्थापित कर उनकी समस्याओं को जाना तथा विभाग के अधिकारियों को समस्याओं के निवारण हेतु निर्देश दिए।
इससे पूर्व उद्योग मंत्री ने डाडासीबा में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य पर महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस अवसर पर उद्योग मंत्री ने उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा के प्रदेश भर में प्रधानमंत्री मातृवन्दना योजना के तहत 1,15,387 महिलाओं के खातों में लगभग 45.87 करोड़ रूपये की राशि जमा करवाई गई है।
उन्होंने कहा कि महिलाओं का सामाजिक व आर्थिक उत्थान प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने इस अवसर पर जिला प्रशासन द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के अन्तर्गत शूरु किए गए जिजीविषा कार्यक्रम के तहत क्षेत्र में अच्छा कार्य करने वाली गांव की बेटी डॉ पल्लवी को सम्मानित किया। इस अवसर पर बालिका आश्रम गरली की छात्राओं द्वारा बेटियों के महत्व पर सुंदर गीत प्रस्तुत किया गया। जिससे खुश होकर उद्योग मंत्री ने बालिका आश्रम की छात्राओं को ट्रैक सूट भेंट किए।
उन्होंने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं की जानकारी गांवों में महिलाओं तक पहुंचाने का आग्रह किया। इस अवसर पर उद्योग मंत्री द्वारा 8 मार्च से 22 मार्च तक प्रागपुर खंड में चलने वाले पोषण पखवाड़े का शुभारंभ भी किया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
पलायन न करें, उपमंडल में ही की जाएगी प्रवासी मजदूरों के भोजन की व्यवस्था: ठाकुर कोरोना वायरस के बचाव को लेकर महत्वपूर्ण कदम फेक खबर पर एफआईआर दर्ज: एसडीएम सामाजिक सुरक्षा पैंशन की दरों को बढ़ाने की अधिसूचना जारी दूध खरीद मूल्य में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ौतरी भाजपा हर बूथ पर राशनदान करने वाले सज्जनों की सूची तैयार करेगी खाद्य वस्तुओं एवं उचित मूल्य की दुकानों व दवाइयों का समय निर्धारित किया गया है? कोरोना से बचाव के लिए सामाजिक दूरी जरूरी: परमार पूर्ण लॉकडाउन का भाजपा के प्रदेश महामंत्री त्रिलोक जम्वाल ने पुरज़ोर समर्थन व स्वागत किया प्रदेश में 912 लोगों को निगरानी में रखा गयाः अतिरिक्त मुख्य सचिव