ENGLISH HINDI Sunday, March 29, 2020
Follow us on
 
हरियाणा

हाई बल्ड प्रैशर, शुगर, पथरी तथा यूटीआई किडनी खराब होने के मुख्य कारण

March 11, 2020 09:55 PM

पंचकूला, फेस2न्यूज:
किडनी की सुरक्षा के लिए उच्च रक्तचाप (बल्ड प्रैशर), शुगर, पथरी जैसी बीमारियों से बचकर स्वस्थ जीवनशैली बहुत जरूरी है। किडनी बीमारियों के इलाज के बारे एसोसिएट डायरेक्टर डा. नवजीत सिंह सिद्धू तथा एसोसिएट कंस्लटेंट डा. सिद्धांत बांसल ने यहां विश्व किडनी दिवस के अवसर पर पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि हमारे देश में हर किडनी फेलियर (किडनी खराब होने) के 2.4 लाख नए केस सामने आते हैं। उन्होंने कहा कि यह 6वीं बड़ी जानलेवा बीमारी बन गई है तथा वर्ष 2040 तक पांचवी बड़ी जानलेवा बीमारी बन जाएगी। डा. सिद्धू ने बताया कि इस बीमारी से बचने के लिए तंदरूस्त जीवनशैली बहुत जरूरी है।
उन्होंने कहा कि इस जानलेवा बीमारी से बचने के लिए उच्च रक्तचाप, शुगर तथा पेशाब से संबंधित अन्य बीमारियों को कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि पथरी का इलाज भी समय पर करवा लेना चाहिए।
डा. बांसल ने कहा कि स्वस्थ जीवन के लिए मोटापा तथा तनाव से बचना जरूरी है। उन्होंने बताया कि किडनी खराब होने की सूरत में लगातार डायलसिस या आप्रेशन द्वारा किडनी ट्रांस्पलांट ही एक विकल्प रह जाता है। उन्होंने बताया कि लगातार टेस्ट करवाते रहना चाहिए।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हरियाणा ख़बरें
हरियाणा : कोरोना रिलीफ फंड में 5 करोड़ दिए सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग की जिम्मेवारी बढ़ी: मीणा कोरोना के चलते एक महीने तक बिजली विभाग के सभी कैश काउंटर बंद, सारचार्ज से छूट सरसों और गेहूं की खरीद के व्यापक प्रबंधों के निर्देश कोरोना से निपटने को सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का सहयोग जरूरी: कोविन्द हरियाणा में तीन महीने की अवधि के लिए नियुक्त होंगे तक्नीकी कर्मचारी आंगनवाडिय़ों को महीने के राशन की आपूर्ति घर द्वार पर पहुंचाने के निर्देश हरियाणा पुलिस ने आवश्यक वस्तुओं, सेवाओं की सुचारू आपूर्ति के लिए बनाया सिस्टम चिकित्सा और पैरा-मेडिकल स्टाफ को सेवा काल में मिलेगी एक्सटेंशन हरियाणा में पैरोल पर चल रहे कैदियों की अवधि बढी