ENGLISH HINDI Thursday, April 02, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
निजी अस्पतालों के डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिक्स, अन्य कर्मचारियों को भी एक्सग्रेशिया मुआवजे की घोषणाविदेशी हाई-प्रोफाइल कॉल गर्ल्स की नहीं हुई जांचसामाजिक दूरी को बनाए रखने में ई-पास मेकेनिज्म होगा सहायकः मुख्यमंत्रीगैर पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को पंजीकृत कर प्रदान किए जाएं पहचान पत्रः राज्यपालकोविड-19 पर जागरूकता फैलाने की पहल, उद्देश्य मिथकों को दूर करने में मदद करना3 व्यक्तियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने धारीवाल हत्याकांड मामला सुलझायाकोरोना की एंट्री पर रोक लगाने शहरों व गांवों में बेरीगेटिंग शुरुदिल्ली में भाग लेने वालों में तब्लीगी जमात से संबंधित बरनाला के भी थे दो लोग
हिमाचल प्रदेश

विदेश यात्रा से लौटे नागरिकों को आईसोलेशन में रहना जरूरी

March 20, 2020 06:58 PM

धर्मशाला, (विजयेन्दर शर्मा) कांगड़ा जिला में कैरोना के संदिग्धों तथा गत 28 दिनों में विदेश यात्रा से लौटे नागरिकों को आईसोलेशन में रहना जरूरी है इस बाबत आदेश भी जारी किए जा चुके हैं। ऐसे नागरिकों और उनको अपने पास रखने वाले व्यक्ति को खुद टोल फ्री 1077 बाहरी यात्रा के बारे में बताना होगा। इन आदेशों की अवेहलना करने वाले नागरिकों को आईपीसी की धारा-270 के तहत दो साल की सजा तथा पचास हजार के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।
जानकारी देते हुए उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि जिस भी नागरिक ने पिछले 28 दिन में विदेश यात्रा की हो या कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आए हों लेकिन अभी तक कोई लक्षण नहीं हो उसे भी होम क्वारंटीन की सलाह दी जाती है तथा होम क्वारंटीन तोड़ने वाले व्यक्ति के लिए कड़ी सजा का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि अलग रखे जा रहे व्यक्ति को हवादार तथा शौचालय युक्त कमरा दें इसके साथ ही घर के बुजुर्ग, बच्चों, गर्भवती महिलाओं और बीमार व्यक्तियों को क्वारंटीन व्यक्ति से दूर रखें, उपरोक्त व्यक्ति को अपने घर में टहलने तक सीमित रखें उसे सामाजिक आयोजनों इत्यादि में कतई शामिल नहीं होने दें। एक ही व्यक्ति को क्वारंटीन किए व्यक्ति की देखभाल का जिम्मा सौंपे, बिस्तर इत्यादि की चादर को नहीं झटकें, चादर साफ करते समय डिस्पोजेबल दस्ताने उपयोग करें, मिलने जुलने किसी को नहीं आने दें।   

आदेशों की अवहेलना करने पर दो साल की सजा, 50 हजार का जुर्माना


उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिला कांगड़ा में मेलों, त्यौहारों, टूर्नामेंट्स, रैलियों इत्यादि के आयोजनों पर रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही लोगों को भीड़ वाले सार्वजनिक तथा धार्मिक कार्यक्रमों में भी जाने से गुरेज करने की हिदायतें दी हैं।
उपायुक्त ने कहा कि राज्य तथा पड़ोसी क्षेत्रों में कोरोना वायरस के संदिग्ध मामले उजागर होने के पश्चात कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रमुख शक्तिपीठों, चर्च गुरूद्वारों मोनेस्ट्री इत्यादि में भी लोगों का प्रवेश वर्जित कर दिया गया है इसके साथ टूरिस्टों की आवाजाही पर भी रोक लगा दी गई है। उपायुक्त ने कहा कि कोरोना वायरस से डरने की आवश्यकता नहीं है तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हिदायतों की अनुपालना करने से कोरोना से बचाव संभव है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
सामाजिक दूरी को बनाए रखने में ई-पास मेकेनिज्म होगा सहायकः मुख्यमंत्री गैर पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को पंजीकृत कर प्रदान किए जाएं पहचान पत्रः राज्यपाल औद्योगिक घरानों को संचालन शुरू करने के लिए सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी: मुख्यमंत्री हिमाचल भवन में वर्ग विशेष को ठहराने का समाचार तथ्यहीन और भ्रामक 14 अप्रैल तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय और शैक्षणिक संस्थान: मुख्यमंत्री मरकज की तबलीगी जमात से लौटे नागरिकों की तुरंत दे सूचना: डीसी कोविड-19 सोलीडेरिटी रिस्पांस फंड हेतु मुख्यमंत्री को चैक भेंट किए महामारी के कठिन समय में सरकार के साथ खड़े हों, दलगत राजनीति से उठकर कार्य करें लोगों से अपना स्थान नहीं छोड़ने का आग्रह किया उद्योगपति श्रमिकों की चिंता करें, कोई भी भोजन के अभाव में भूखा ना सोये: बिन्दल