ENGLISH HINDI Thursday, April 02, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
निजी अस्पतालों के डॉक्टरों, नर्सों, पैरामेडिक्स, अन्य कर्मचारियों को भी एक्सग्रेशिया मुआवजे की घोषणाविदेशी हाई-प्रोफाइल कॉल गर्ल्स की नहीं हुई जांचसामाजिक दूरी को बनाए रखने में ई-पास मेकेनिज्म होगा सहायकः मुख्यमंत्रीगैर पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को पंजीकृत कर प्रदान किए जाएं पहचान पत्रः राज्यपालकोविड-19 पर जागरूकता फैलाने की पहल, उद्देश्य मिथकों को दूर करने में मदद करना3 व्यक्तियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने धारीवाल हत्याकांड मामला सुलझायाकोरोना की एंट्री पर रोक लगाने शहरों व गांवों में बेरीगेटिंग शुरुदिल्ली में भाग लेने वालों में तब्लीगी जमात से संबंधित बरनाला के भी थे दो लोग
पंजाब

कफ्र्य़ू सम्बन्धी पुलिस सहायता के लिए 112 डायल करें

March 26, 2020 09:16 PM

चंडीगड़, फेस2न्यूज:
पंजाब पुलिस ने आम जनता के लिए एक समर्पित नंबर ‘112’ का ऐलान किया है जो कफ्र्य़ू से जुड़े किसी भी पुलिस मसले को हल करने के लिए कफ्र्य़ू हेल्पलाइन के तौर पर सहायता करेगा।
यह प्रगटावा करते हुए पंजाब पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि राज्य भर से किसी व्यक्ति द्वारा एमरजैंसी के दौरान अस्पताल जाने, खाना, किरयाना, दवाओं की सप्लाई, एल.पी.जी. सिलंडर जैसी सुविधाओं की जानकारी या मदद के लिए 112 डायल कर सकता है। साथ ही ज़रूरी सामान ले जाने वाले ट्रकों की बेरोक-टोक यातायात और ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा सामान के वितरण में मुश्किल संबंधी इस नंबर पर कॉल कर सकते है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
3 व्यक्तियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने धारीवाल हत्याकांड मामला सुलझाया कोरोना की एंट्री पर रोक लगाने शहरों व गांवों में बेरीगेटिंग शुरु दिल्ली में भाग लेने वालों में तब्लीगी जमात से संबंधित बरनाला के भी थे दो लोग विधायक आवला ने मुख्यमंत्री राहत कोष में अपना दो साल का वेतन दिया चेतावनी: ज़रूरी वस्तुओं की अधिक कीमत वसूलने वालों पर की जाएगी सख्त कार्यवाही सिविल डिफेंस वार्डनों को सीडीआई ने दिए वालंटियरों को तैयार रखने के निर्देश बैसाखी पर सिख संगत को एकत्रित न होने का संदेश देने की श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार से अपील सेवामुक्त होने वाले पुलिसकर्मियों का सेवाकाल 31 मई तक बढ़ाया कोरोना : पहले कैदियों को रिहा किया, अब नशामुक्ति केंद्रों से नशेडिय़ों को भेजा जाएगा घर गड़बड़झाला: दवा के नाम पर प्रशासन की आंखों में धूल झौंक रहे नगर परिषद अधिकारी व ठेकेदार