ENGLISH HINDI Wednesday, July 08, 2020
Follow us on
 
पंजाब

नौकरी के लिए आए कफ्यू में फंसे लोगों के लिए पुलिस ने लगाया लंगर

March 26, 2020 09:43 PM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी:
डेराबस्सी में आज उस समय अफरा तफरी मच गई जब नौकरी के लिए बाहर से आए कुछ लोग कर्फ्यू लगने के कारण यहां फंस गए। खाने-पीने और रहने का कोई इंतजाम ना होने के कारण पहले तो कुछ दिनों तक लोगों ने उनकी सहायता की और उनको खाने पीने में रहने के लिए भी दिया लेकिन अब जाकर लोगों का सब्र टूट गया। आखिरकार पंजाब पुलिस डेराबस्सी की ओर से इन लोगों के लिए खाने के लिए इनको राशन बांटा गया लेकिन वे लोग अपने घर पर राशन वह चुला नहीं होने के कारण नहीं बना सकते तो उनके लिए डेराबस्सी पुलिस ने अपने यहां पर लंगर का इंतजाम किया है। इसकी जानकारी डेराबस्सी थाने के एसएचओ सतिंदर सिंह ने दी।   

उन्होंने कहा कि लोगों की मदद के लिए पंजाब पुलिस व डेराबस्सी पुलिस हर समय उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि कोई भी जरूरतमंद डेराबस्सी के इलाके में है वह डेराबस्सी पुलिस से संपर्क कर सकता है। उसको खाने पीने के अलावा अगर राशन की आवश्यकता है तो वह भी पुलिस उपलब्ध कराएगी। जिक्र योग है कि यह सब व्यवस्था खाने प्रशासन की होती है। लेकिन प्रशासन की ओर से लोगों को जहां से सामान मिलना है उन दुकानों की लिस्ट दे देगी दे दी गई हैं कि वे वहां से सामान मंगा सकते हैं लेकिन जिनके पास पैसा ही नहीं है वह कहां से सामान लाएंगे। इसलिए प्रशासन को उन लोगों की और भी ध्यान देना चाहिए जिनके पास पैसा व राशन कुछ भी नहीं है। पंजाब पुलिस ने मानवता की खातिर अपनी ओर से लंगर का प्रबंध कर लोगों में एक मिसाल पैदा की है। उन्होंने कहा कि जितने दिन कर्फ्यू लगा है अगर किसी के पास कोई भी चीज नहीं है तो वह हमसे संपर्क कर सकता है हम उसकी सेवा में हर समय हाजिर हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा अस्पतालों का नाम ‘माई दौलतां जच्चा-बच्चा अस्पताल’ रखने का फैसला पंजाब में प्रवेश के लिए ई-रजिस्ट्रेशन हुआ अनिवार्य कोरोना महामारी: जागरूकता के लिए गाड़ीयों में ‘फट्टियाँ’ लगाने की मुहिम डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान: वर्तमान सैशन के सभी कोर्सों के लिए ली जाएंगी परीक्षाएं खजाने में सेंधमारी- फिर भी तरफदारी