ENGLISH HINDI Sunday, June 07, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
निजी तथा सार्वजनिक सेवा वाहनों को शर्तों सहित सुबह 5 से रात 9 बजे तक चलने की आज्ञाधार्मिक स्थानों, होटलज, रैस्टोरैंटस और शॉपिंग मॉलज़ को फिर खोलने सम्बन्धी दिशा-निर्देश जारी'जड़ों से जुड़ें' नामक मिशन तहत स्वदेशी अपनाने के जागरूकता फैलाने का संकल्पक्वारंटीन लोगों के लिए योग तथा मेडिटेशन शुरूखबरों के पीछे की खबर: सोनाली— सुल्तान थप्पड़ कांड— जनता में उठते कई सवालजानवरों के दाहगृह प्लांट के विरोध में युवा कांग्रेस सडक़ परजिम खोलने की इजाजत मिले, डेराबस्सी में नॉर्थ इंडिया बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन ने की मांगवजन कम करना सबसे आसान काम है अगर सही तरीके से किया जाए : हनान चौधरी
राष्ट्रीय

पुन: रामायण का प्रसारण 28 मार्च से

March 27, 2020 08:49 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
कोरोना वायरस महामारी के मौजूदा दौर में इस जंग को जीतने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संपूर्ण हिंदुस्तान में लॉकडाउन की घोषणा के बाद देशवासी अपने घर की लक्ष्मण रेखा में कैद होकर रह गए हैं जिससे समय काटना मुश्किल हो रहा है। इसे देखते हुए अब लोगों का मनोरंजन घर में करने के लिए हिंदुस्तान का सबसे लोकप्रिय धारावाहिक रामायण का प्रसारण डीडी 1 से 28 मार्च से प्रातः 9:00 से 10:00 एवं रात्रि को फिर 9:00 से 10:00 प्रसारित किया जाएगा। गौरतलब है कि कोरोना वायरस को मात देने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग को प्रोत्साहन देने हेतु लक्ष्मण रेखा का पालन करने के लिए रामायण का प्रसारण करने का अनुरोध किया गया था जिसे सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा स्वीकार कर लिया गया। उल्लेखनीय है कि 80 के दशक में प्रसारित होने वाले इस धारावाहिक के प्रसारण के समय पूरे देश की सड़कें सूनी पड़ जाती थी। लोग घरों में बैठकर इस धारावाहिक का परिवार के साथ आनंद लेते थे। इस समय रामायण का प्रसारण होना देशवासियों को घर में रहने की रुचि बढ़ाएगा एवं आनंद उठाएंगे। इससे कोरोना वायरस को चित करने में बहुत बड़ा प्रोत्साहन प्राप्त होगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
मास्क पहनने का औचित्य 'दुखद: समाचार एवं श्रद्धासुमन' जेसिका लाल हत्याकांड: जेल में अच्छे व्यवहार के चलते सिद्धार्थ शर्मा उर्फ मनु रिहा मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह