ENGLISH HINDI Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
हिमाचल: पश्मीना उत्पाद को बढ़ावाअधिकारियों/कर्मचारियों की तरक्की जल्द करने के आदेशकोविड संकट दौरान सिविल डिफेंस द्वारा जरूरतमन्दों को दवाएं पहुंचाने का सिलसिला जारीहाईकोर्ट की निगरानी में न्यायिक आयोग करे पिछले 13 वर्षों के कृषि घोटाले की जांच: चीमाफर्जीवाड़ा: विश्व तंबाकू विरोधी दिवस मनाने का लैक्चर दिया और फुर्रर हो गए सेहत अधिकारीसोना लूटने वाला सरगना पंजाब पुलिस की वर्दी, नकली आईडी, चीनी पिस्तौल सहित काबूलॉकडाउन खुलते ही फर्नीचर मार्केट मार्ग पर बेतरतीब खड़ी गाड़ियों से जाम में फंसते लोग10 जून से पहले मुकम्मल हो जायेगी रजबाहों/माईनरों की सफ़ाई
राष्ट्रीय

लाइफलाइन उड़ान के अंतर्गत 74 उड़ानों का परिचालन; एक दिन में 22 टन से अधिक सामग्री की ढुलाई

April 01, 2020 07:50 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
नागरिक उड्डयन मंत्रालय (एमओसीए) की लाइफलाइन उड़ान पहल के अंतर्गत देश भर में चिकित्सा कार्गो की ढुलाई के लिए आज तक 74 उड़ानों का परिचालन किया गया है। अब तक कुल 37.63 टन कार्गो की ढुलाई की जा चुकी है, जिसमें से 22 टन से ज्‍यादा कार्गो की ढुलाई 31 मार्च 2020 को की गई।
लाइफलाइन 1: एयर इंडिया की उड़ानें: मुंबई-नई दिल्ली-गुवाहाटी-मुंबई के दौरान मेघालय, असम, आईसीएमआर की खेप, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश और पुणे की खेप पहुंचाई
लाइफलाइन 2: एयर इंडिया की उड़ानें: नई दिल्ली-हैदराबाद-त्रिवेंद्रम-गोवा-दिल्ली। इसने आंध्र प्रदेश, केरल, आईसीएमआर, गोवा की खेप पहुंचाई।
लाइफलाइन 3: एलायंस एयर की उड़ान: हैदराबाद –बेंगलुरु- हैदराबाद में वस्त्र मंत्रालय की खेप पहुंचाई गई।
लाइफलाइन 4: एयर इंडिया की उड़ान: चेन्नई -पोर्ट ब्लेयर-चेन्नई
लाइफलाइन 5: भारतीय वायुसेना की उड़ान: हिंडन (दिल्ली) से वाया सुल्लूर होते हुए पोर्ट ब्लेयर तक
कोविड-19 के खिलाफ भारत की जंग के तहत नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत सरकार ने देश भर में और देश से बाहर चिकित्सा और आवश्यक वस्‍तुओं की ढुलाई के लिए "लाइफलाइन उड़ान" उड़ानों का परिचालन शुरू किया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
जेसिका लाल हत्याकांड: जेल में अच्छे व्यवहार के चलते सिद्धार्थ शर्मा उर्फ मनु रिहा मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आए एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आए