ENGLISH HINDI Friday, June 05, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

उच्‍चतम न्‍यायालय का मीडिया को निर्देश: अप्रमाणित समाचारों का प्रसार न करें जिनसे दहशत फैल सकती हो

April 01, 2020 07:52 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
उच्‍चतम न्‍यायालय ने प्रिंट, इलेक्‍ट्रॉनिक और सोशल मीडिया सहित मीडिया को जिम्‍मेदारी की प्रबल भावना बरकरार रखने और यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि ऐसे अप्रमाणित समाचारों का प्रसार न होने पाए, जिनसे दहशत फैल सकती हो।
उच्‍चतम न्‍यायालय ने इस बात पर ध्‍यान दिया है कि शहरों में काम करने वाले कामगारों के बड़ी संख्‍या में प्रवासन का कारण इस फेक न्यूज के कारण फैली दहशत थी कि लॉकडाउन तीन महीने से ज्‍यादा अवधि तक चलने वाला है। न्‍यायालय ने गौर किया है कि इलेक्‍ट्रॉनिक, प्रिंट और सोशल मीडिया द्वारा प्रसारित की जाने वाली फेक न्‍यूज की अनदेखी कर पाना उसके लिए संभव नहीं है, क्‍योंकि इनसे फैली दहशत के कारण हुए प्रवासन ने उन ऐसे समाचारों का पालन करने वाले लोगों की तकलीफे बेतहाशा बढ़ा दीं, इसके कारण कुछ लोगों को जान तक गंवानी पड़ी।
न्‍यायालय ने अपने आदेश में कहा है कि वह महामारी के बारे में निष्‍पक्ष चर्चा पर दखल नहीं देना चाहता, लेकिन साथ ही न्यायालय ने मीडिया को घटनाक्रमों के बारे में आधिकारिक विवरण का संदर्भ लेने और प्रकाशन करने का निर्देश दिया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
जेसिका लाल हत्याकांड: जेल में अच्छे व्यवहार के चलते सिद्धार्थ शर्मा उर्फ मनु रिहा मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आए एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आए