ENGLISH HINDI Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
हिमाचल: पश्मीना उत्पाद को बढ़ावाअधिकारियों/कर्मचारियों की तरक्की जल्द करने के आदेशकोविड संकट दौरान सिविल डिफेंस द्वारा जरूरतमन्दों को दवाएं पहुंचाने का सिलसिला जारीहाईकोर्ट की निगरानी में न्यायिक आयोग करे पिछले 13 वर्षों के कृषि घोटाले की जांच: चीमाफर्जीवाड़ा: विश्व तंबाकू विरोधी दिवस मनाने का लैक्चर दिया और फुर्रर हो गए सेहत अधिकारीसोना लूटने वाला सरगना पंजाब पुलिस की वर्दी, नकली आईडी, चीनी पिस्तौल सहित काबूलॉकडाउन खुलते ही फर्नीचर मार्केट मार्ग पर बेतरतीब खड़ी गाड़ियों से जाम में फंसते लोग10 जून से पहले मुकम्मल हो जायेगी रजबाहों/माईनरों की सफ़ाई
पंजाब

किसानों और दानी सज्जनों को गौशालाओं में चारा पहुँचाने की अपील

April 08, 2020 06:13 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
राज्य के दानी सज्जनों ख़ासकर किसानों से पंजाब के ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिन्दर बाजवा ने आज अपील की है कि वह पंजाब की गौशालाओं में अपेक्षित हरा चारा, भूसा और अन्य खाद्य वस्तुएँ पहुँचाने के लिए आगे आएं जिससे किसी भी गौशाला में कोई पशु भूखा न मरे। उन्होंने कहा कि इस अत्यंत संकट की घड़ी में हम सभी का यह परम धर्म है कि गऊओं की जानें बचाने के लिए अपनी मेहनत की कमाई में से कुछ न कुछ ज़रूर दान करें।   

‘गाँवों की पंचायतें मिलकर नज़दीकी गौशालाओं को अपनाएं’


श्री बाजवा ने कहा कि राज्य के कई स्थानों से यह रिपोर्टें मिल रही हैं कि गौशालाओं में अपेक्षित हरा चारा नहीं पहुँच रहा और पहले से भंडार किया गया भूसा भी ख़त्म हो गया है। उन गौशालाओं का और भी बुरा हाल है जो सिर्फ दानी सज्जनों द्वारा दिए गए दान के सहारे ही चलती हैं। राज्य में कफ्र्यू लगा होने के कारण श्रद्धालू और गाय भक्त दान करने के लिए गौशालाओं में नहीं जा सकते। नतीजतन गाएं भूखी मरने लगी हैं। उन्होंने कहा कि कई स्थानों पर प्रबंधकों ने गौशालाओं के गेट खोलकर गायों को बाहर निकाल दिया है।
पंजाबियों को उनकी विरासत की याद दिलाते हुए, श्री बाजवा ने कहा कि पंजाबी गाय और गरीब की रक्षा के लिए हमेशा ही अग्रणी भूमिका निभाते आए हैं। पंजाबियों ख़ासकर सिखों ने गायों की रक्षा के लिए अपना लहू बहाकर भी संघर्ष किए हैं। इसलिए अब उनको गायों को भूखी मरने के लिए नहीं छोडऩा चाहिए और हर हाल में चारा और भूसा गौशालाओं में पहुँचाने का प्रबंध करना चाहिए।
श्री बाजवा ने कहा कि गाँवों की पंचायतों से अपील है कि वह अपने नज़दीकी गौशालाओं को अपनाएं और हर गाँव बारी-बारी से हर रोज़ चारा भेजने की जि़म्मेदारी लें। उन्होंने जि़ले के सिविल प्रशासन को भी कहा कि वह अपने-अपने जि़लों में स्थित गौशालाओं के प्रबंधकों और गाँवों की पंचायतों के साथ तालमेल रख कर इन गौशालाओं तक चारा पहुँचाने को यकीनी बनाएं। पंचायत मंत्री ने कहा कि जि़ला प्रशासन को हर जि़ले में इस कार्य के लिए स्थानीय निकाय, ग्रामीण विकास एवं पंचायतों और पशु पालन विभाग की एक साझी कमेटी बनाकर यह कार्य संभालना चाहिए।
उन्होंने अपने अधीन आते पशु पालन विभाग के जि़ला अधिकारियों को भी हिदायत की कि वह अपने जि़ले की हर गौशाला में डॉक्टरी सुविधाएं मिलती रहने को भी यकीनी बनाएं।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
अधिकारियों/कर्मचारियों की तरक्की जल्द करने के आदेश कोविड संकट दौरान सिविल डिफेंस द्वारा जरूरतमन्दों को दवाएं पहुंचाने का सिलसिला जारी हाईकोर्ट की निगरानी में न्यायिक आयोग करे पिछले 13 वर्षों के कृषि घोटाले की जांच: चीमा फर्जीवाड़ा: विश्व तंबाकू विरोधी दिवस मनाने का लैक्चर दिया और फुर्रर हो गए सेहत अधिकारी सोना लूटने वाला सरगना पंजाब पुलिस की वर्दी, नकली आईडी, चीनी पिस्तौल सहित काबू 10 जून से पहले मुकम्मल हो जायेगी रजबाहों/माईनरों की सफ़ाई शराब पर कोविड सैस लगाकर लेंगे 145 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व पंजाब में मैन मार्केट, सैलून, शराब की दुकानों, सपा आदि निर्धारित संचालन विधि की पालना के साथ आज से खुले कांग्रेसी मंत्रियों ने केंद्र द्वारा संघीय ढांचे का गला घोंटने पर बादलों को घेरा कोरोना महामारी के बावजूद मानवता भलाई हेतु रक्तदान शिविर का आयोजन