ENGLISH HINDI Friday, May 29, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
राष्ट्रीय

मिशन सागर: नौसेना का ‘केसरी’ खाद्य, दवाएं और चिकित्‍सा सहायता दलों सहित संबंधों को विकसित करने हुआ रवाना

May 10, 2020 07:22 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
कोविड-19 महामारी के बीच भारत सरकार के साथ समन्‍वय कायम करते हुए, भारतीय नौसेना का जहाज ‘केसरी’ खाद्य वस्तुएं, एचसीक्‍यू गोलियों सहित कोविड सम्‍बन्धित दवाएं और विशेष आयुर्वेदिक दवाओं और चिकित्‍सा सहायता दलों के साथ 10 मई को मालदीव, मॉरीशस, सेशेल्स, मेडागास्कर और कोमोरोस रवाना हो गया है। 'मिशन सागर' के रूप में यह तैनाती क्षेत्र में पहले उत्तरदाता के रूप में भारत की भूमिका के अनुरूप है और कोविड-19 महामारी और इसके परिणामस्‍वरूप उत्‍पन्‍न कठिनाइयों से मुकाबला करने के लिए इन देशों के बीच मौजूदा उत्कृष्ट संबंधों को विकसित करती है।
यह तैनाती प्रधानमंत्री की क्षेत्र में सभी की सुरक्षा और विकास ‘सागर’ की संकल्‍पना के अनुरूप है और भारत द्वारा उसके पड़ोसी देशों के साथ संबंधों के महत्व को रेखांकित करता है और मौजूदा बंधन को और मजबूत करता है। यह अभियान रक्षा मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और भारत सरकार की अन्य एजेंसियों के साथ नजदीकी समन्वय के साथ प्रगति पर है।
मिशन सागर के हिस्से के रूप में, भारतीय नौसेना का जहाज केसरी मालदीव गणराज्य के पोर्ट ऑफ माले में प्रवेश करेगा, ताकि उन्हें 600 टन खाद्य प्रदान किया जा सके। भारत और मालदीव अत्यंत मजबूत और सौहार्दपूर्ण रक्षा और राजनयिक संबंधों के साथ करीबी समुद्री पड़ोसी हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आए एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आए उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित लोगों का आंकड़ा 317 पहुंचा, सभी 13 जिले ऑरेंज जोन में चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के बाद बंगाल में एनडीआरएफ की 10 अतिरिक्त टीमें तैनात की गई "जैव विविधता भारतीय संस्कृति का अनिवार्य हिस्सा है": शेखावत कोविड—19 परीक्षण में 9 पॉजिटिव जीवन चलाने के लिए जीवन को ही दांव पर लगा दिया गया कोरोना संकट में आर्थिक मंदी से झूझ रहा भारतीय फिल्म जगत: प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों से सहयोग की गुहार