ENGLISH HINDI Friday, July 10, 2020
Follow us on
 
पंजाब

मोगा सेक्स स्कैंडल-3 की सीबीआई से जांच करवाएं कैप्टन: चीमा

May 24, 2020 06:32 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रतिपक्ष नेता हरपाल सिंह चीमा ने मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को पत्र लिख कर मांग की है कि मोगा सेक्स स्कैंडल की तरह सीबीआई से जांच करवाई जाए, परंतु इसकी जांच और ट्रायल समयबद्ध हो।
चीमा ने कहा कि मोगा के नेहाल सिंह वाला थाना में दर्ज हुए सेक्स स्कैंडल ने एक बार फिर मोगा के 2003 और 2007 के बहुचर्चित सेक्स स्कैंडलों की याद ताजा कर दी है। उन्होंने कहा कि हैरानी इस बात की है कि 2020 मोगा सेक्स स्कैंडल में भी 2003 और 2007 के बहुचर्चित सेक्स सकैंडलों की शैली दोहराई गई है। पुलिस अफसरों-कर्मचारियों और राजनीतिज्ञों की सीधी भागीदारी है।
चीमा ने कहा कि जब सत्ताधारी पक्ष के साथ सम्बन्धित धड़ल्लेदार नेता और उनके अति नजदीकियों समेत खुुद पुलिस अफसर ऐसे गंभीर अपराधों में शामिल हों तो पंजाब पुलिस की जांच कोई मायने नहीं रखती, इसलिए यह केस तुरंत सीबीआई के हवाले किया जाए।
चीमा ने मोगा के मौजूदा एस.एस.पी. के तुरंत तबादले की मांग करते हुए कहा, ‘‘मोगा में सरकार का एसएसपी नहीं है, बल्कि कांग्रेस का एसएसपी है। ऐसे कांग्रेसी एसएसपी से आरोपी पुलिस अफसरों और कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ निष्पक्ष जांच और इंसाफ की उम्मीद नहीं की जा सकती, क्योंकि एसएसपी मोगा कांग्रेसी परिवार से सम्बन्धित हैं और खडूर साहिब से कांग्रेसी संसद मैंबर जसवीर सिंह डिम्पा के सगे भाई हैं।’’ इसलिए यह केस तुरंत सीबीआई के हवाले किया जाए।
चीमा ने कहा कि इस ताजा स्कैंडल में जिन 2 एएसआईज को बर्खास्त करने समेत कुल पांच लोगों पर यह मामला दर्ज किया गया है, यह केवल मोहरे हैं, जबकि इस पूरे धंधे की सरप्रस्ती करने वाली बड़ी मछलियां अभी भी कानून की पहुंच से बाहर हैं।, जिस की पुष्टि मोगा जिला यूथ कांग्रेस के प्रधान की तरफ से एक महिला का शारीरिक शोषण और ब्लैकमेलिंग करने के गंभीर मामले पर मोगा पुलिस की तरफ केस को रफा-दफा करने के लिए विशेष जांच टीम गठित करके गोंगलूओं से मिट्टी झाड़ दी, जबकि माननीय सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों के मुताबिक ऐसे गंभीर मामले में पहले एफ.आई.आर दर्ज की जाती है।
हरपाल सिंह ने कहा कि 2020 के इस सेक्स स्कैंडल की तरह ही 2003 और 2007 भी मोगा सेक्स स्कैंडलों में भी तत्कालीन सत्ताधारियों और पुलिस प्रशासन की सीधी भागीदारी रही है। चीमा ने कहा कि इन हरकतों ने साफ कर दिया है कि इस हमाम में अकाली और कांग्रेसी दोनों नंगे हैं और पंजाब के लोग इनके बारे में अच्छी तरह से वाकिफ हो चुके हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
बरगाड़ी-बहबल कलां कांड में लोगों की कचहरी के मुख्य आरोपी हैं बादल: मान इंतकाल फीस 300 रुपए से बढ़ाकर 600 रुपए की, महामारी झेल रहे लोगों पर अतिरिक्त भार राज्य में खेल ढांचे की मज़बूती के लिए कड़े निर्देश शिरोमणि कमेटी के फ़ैसले से पंजाब के 3.5 लाख दूध उत्पादकों के पेट पर पड़ी लात: रंधावा पहलकदमी : बरनाला में घुटनों की तकलीफ के मरीजों का दूरबीन से इलाज डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा