ENGLISH HINDI Friday, July 10, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह

May 28, 2020 05:47 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एन.एस.यू.आई.) पंजाब ने राज्य के विश्वविद्यालयों से आग्रह किया है कि वे अंतिम वर्ष के छात्रों केे क्रैडिट रिलैक्सेशन में विशेष एक बार की छूट देकर सभी स्नातक कोर्स कर रहे छात्रों को उत्तीर्ण करने पर विचार करें, क्योंकि इन छात्रों का भविष्य महामारी के कारण फैली अनिश्चितता के मद्देनजर खतरे में है।
अगले स्तर पर उत्तीर्ण करने के लिए, स्कोर पहले से चल रहे सेमेस्टर में किए गए काम या उनके पूर्ववर्ती प्रदर्शनों के औसत अंकों के आधार पर हो सकतें है, राज्य के एन.एस.यू.आई. अध्यक्ष अक्षय शर्मा ने राज्य सरकार को अंतिम वर्ष के छात्रों की सुविधा के लिए भी सुझाव दिया, ताकि वे समय पर स्नातक कर सकें।
हमने पूरे राज्य के विश्वविद्यालयों के माननीय कुलपतियों को एक ज्ञापन सौंपा है, अक्षय शर्मा ने कहा कि मिड-सेमेस्टर परीक्षाओं, असाइंमैंट्स और प्रोजैक्ट्स को प्रदर्शन को मापने और ग्रेड्स के आवंटन के लिए विचार किया जा सकता है।
शर्मा ने आगे कहा कि पूरे देश में परीक्षाओं की स्थिति में अनिश्चितता बनी रहने के कारण छात्रों में चिंता और दबाव की भावना बनी हुई है।
आईआईटी कानपुर, गोवा विश्वविद्यालय और एमिटी यूनिवर्सिटी द्वारा इस तरह के फैसलों का उल्लेख करते हुए, अक्षय ने कहा कि, अब यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि उनके अंतिम वर्ष के पाठ्यक्रमों की ग्रेडिंग 30 जून या 15 जुलाई तक पूरी हो जाए, जिससे छात्रों को उनकी पसंद का अगला प्रवेश लेने के लिए तैयारी करने का कुछ समय मिल सके। इन अभूतपूर्व समय के दौरान इस तरह का विशेष कदम लाखों छात्रों की मानसिक दुर्दशा को दूर करेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
भ्रष्ट तंत्र की उपज है विकास दुबे— जो बहुतों का जीवन ही ले डूबे एम्‍स दिल्‍ली ने कोविड क्‍लीनिकल मैनेजमेंट के बारे में राज्‍य के डॉक्‍टरों को टेली-परामर्श देना शुरु किया 25 वर्ष के अविवाहित दिव्यांग पुत्र ईसीएचएस सुविधा प्राप्त करने के पात्र कोविड-19 से लड़ने हेतु ईसीएचएस के तहत प्रति परिवार एक पल्स ऑक्सीमीटर की प्रतिपूर्ति की अनुमति अतिरिक्त खाद्यान्न आवंटन योजना अवधि को जुलाई से पांच माह और बढ़ाकर नवंबर तक की मंजूरी भारत में दीपगृह पर्यटन के अवसरों को विकसित करने का आह्वान महामारी को देखते हुए परीक्षाओं पर यूजीसी संशोधित दिशानिर्देश, अकादमिक कैलेंडर जारी कोविड—19: ठीक होने वालों की संख्या करीब 4 लाख 40 हजार हुई आईसीएआर-राष्ट्रीय पादप आनुवांशिक संसाधन ब्यूरो ने किए एमओयू पर हस्ताक्षर सतत विकास के लिए आयु-अनुकूल व्यापक यौनिक शिक्षा क्यों है ज़रूरी?