ENGLISH HINDI Wednesday, July 08, 2020
Follow us on
 
पंजाब

कोरोना महामारी के बावजूद मानवता भलाई हेतु रक्तदान शिविर का आयोजन

June 01, 2020 11:34 AM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी:
डेराबस्सी ब्रांच में खूनदान कैंप का आयोजन किया गया, जो इस ब्रांच का अब तक का 14वां रक्तदान शिविर है। कैम्प में 154 श्रद्धालुओं ने रक्तदान किया, जिनमें पी.जी.आई. के विशेष अभियान तहत ओ. ब्लड ग्रुप के 44 रक्तदाता भी शामिल हैं। रक्तदान शिविर का उद्घाटन डेराबस्सी के तहसीलदार नवप्रीत सिंह शेरगिल्ल की तरफ से किया गया, उन्होंने इस अवसर पर कहा कि आज जहाँ सारा संसार कोरोना नामक महामारी के साथ जूझ रहा है वहीँ निरंकारी मिशन इसी तरह रक्तदान शिविरों के द्वारा रक्त की कमी को पूरा करके मानवता की भलाई के लिए अपना योगदान दे रहा है, इस के इलावा पिछले दिनों इस निरंकारी सतसंग भवन को कुऑरटाइन सैंटर बनाया गया और स्थानीय संगत की तरफ से इसमें लंगर आदि की व्यवस्था उत्साह के साथ की गई है। जरूरतमंद परिवारों को राशन आदि की सेवा भी की गई, जो सराहनीय कदम है।
शिविर में पी.जी.आई. चण्डीगढ़ से डा. दिवजोत सिंह लांबा के नेतृत्व में 14 सदस्यीय टीम ने रकत एकत्रित किया। सुभाष चोपड़ा संयोजक ने बताया कि निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज की अपार कृपा से संत निरंकारी मिशन पिछले कई दशकों से लगातार रक्तदान कैम्पों का आयोजन करता आ रहा है, जिन में सैंकडों श्रद्धालू रक्तदान कर सद्गुरु के आशीर्वाद के पात्र बन रहे हैं। सन 1986 से बाबा हरदेव सिंह महाराज द्वारा चलाए गए रक्तदान कैंप आज पूरे विश्व में अग्रणीय स्थान पर हैं। संत निरंकारी मिशन द्वारा अनेकों तरह के सामाजिक कार्य किये जाते हैं, जिस में पौधारोपण, सफ़ाई अभियान और रक्तदान कैंप मुख्य हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा अस्पतालों का नाम ‘माई दौलतां जच्चा-बच्चा अस्पताल’ रखने का फैसला पंजाब में प्रवेश के लिए ई-रजिस्ट्रेशन हुआ अनिवार्य कोरोना महामारी: जागरूकता के लिए गाड़ीयों में ‘फट्टियाँ’ लगाने की मुहिम डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान: वर्तमान सैशन के सभी कोर्सों के लिए ली जाएंगी परीक्षाएं खजाने में सेंधमारी- फिर भी तरफदारी