ENGLISH HINDI Wednesday, August 05, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
वृद्ध महिला को घर से निकालने का मामला: महिला आयोग ने सीनियर पुलिस कप्तान खन्ना से माँगी रिपोर्ट5 सदियों बाद 5 अगस्त को अभिजित मुहूर्त में राम जन्म भूमि पूजन, राम राज्य की ओर अग्रसर भारतकोविड-19 के कारण गिरावट दर 9.26 प्रतिशत रहीपंजाब: मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा डिजिटल माध्यम से स्वीप गतिविधियों की शुरूआतश्री राम जन्मभूमि निर्माण की ख़ुशी में सैंकड़ों दिए जलाकर मनाई दीपावलीपेट्रोल— डीजल के थोक और खुदरा विपणन का अधिकार नियमों को बनाया सरलजनशिकायतों निपटारे के लिए आईआईटी कानपुर तथा प्रशासनिक सुधार और लोकशिकायत विभाग के साथ त्रिपक्षीय कराररूड़की में वेस्ट टू एनर्जी प्लांट लगाए जाने के संबंध में बैठक, 05 सितम्बर तक बिड प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश
पंजाब

यूनिवर्सिटियों , कॉलेजों की अंतिम परीक्षाएं 15 जुलाई तक स्थगित

June 28, 2020 05:42 PM

अंतिम फैसला यू.जी.सी. के नये दिशा-निर्देशों पर निर्भर होगा

 चंडीगढ़:कोविड की महामारी के दरमियान परीक्षाएं करवाने संबंधी विद्यार्थियों और माता-पिता द्वारा जाहिर की गई चिंताओं के संदर्भ में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज राज्य की सभी यूनिवर्सिटियों के फाईनल इम्तिहान 15 जुलाई तक स्थगित करने का ऐलान किया है। हालाँकि, इस बारे में अंतिम फैसला यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यू.जी.सी.) द्वारा किसी भी समय जारी किये जाने वाली नई हिदायतों / दिशा-निर्देशों पर आधारित होगा।

इस संदर्भ में सारी दुविधा और अनिश्चितता को दूर करने की माँग करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि परीक्षाएं 15 जुलाई तक स्थगित करने से सभी संबंधित पक्षों खासकर यूनिवर्सिटियों को यू.जी.सी. द्वारा जारी किये जाने वाले नये दिशा-निर्देशों के अनुकूल आगे बढ़ने का समय मिल जायेगा।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री जी को लगता है कि परीक्षाओं का सुरक्षित संचालन करने संबंधी विद्यार्थियों, अध्यापकों और माता-पिता के मन से भ्रम को दूर करने की जरूरत है।

यह जिक्रयोग्य है कि यू.जी.सी. द्वारा 29 अप्रैल को जारी किये दिशा-निर्देशों के मुताबिक पंजाब की यूनिवर्सिटियों ने जुलाई, 2020 में परीक्षाएं लेने का फैसला लिया था। उस समय यू.जी.सी. ने ऐलान किया था कि वह स्थिति की फिर से समीक्षा करेगी। हालाँकि, अकादमिक गतिविधियों खासकर परीक्षाएं करवाने के सम्बन्ध में यू.जी.सी. के फैसले की अभी प्रतीक्षा है।
मुख्यमंत्री कई बार कह चुके हैं कि पंजाब की सभी यूनिवर्सिटियां और कॉलेज यू.जी.सी. से मान्यता प्राप्त हैं और इस कारण इम्तिहानों बारे कोई भी फैसला मानव संसाधन मंत्रालय अधीन सक्षम अथॉरिटी द्वारा ही लिया जा सकता है।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
वृद्ध महिला को घर से निकालने का मामला: महिला आयोग ने सीनियर पुलिस कप्तान खन्ना से माँगी रिपोर्ट कोविड-19 के कारण गिरावट दर 9.26 प्रतिशत रही पंजाब: मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा डिजिटल माध्यम से स्वीप गतिविधियों की शुरूआत श्री राम जन्मभूमि निर्माण की ख़ुशी में सैंकड़ों दिए जलाकर मनाई दीपावली ‘आप’ नेताओं संग फार्म हाऊस में कैप्टन को ढूंढने गए मान को किया गिरफ्तार स्वतंत्रता दिवस को पड़ी कोरोना की मार मिड—डे मील के मेहनताने हेतु 2.5 करोड़ रुपए जारी रेल गाड़ी के नीचे कर नौजवान ने की ख़ुदकुशी हर मामले पर एसआईटी, नतीजा जीरो का जीरो अध्यापक स्टेट अवार्ड नामांकन की अंतिम तारीख में वृद्धि