ENGLISH HINDI Wednesday, August 05, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
5 सदियों बाद 5 अगस्त को अभिजित मुहूर्त में राम जन्म भूमि पूजन, राम राज्य की ओर अग्रसर भारतकोविड-19 के कारण गिरावट दर 9.26 प्रतिशत रहीपंजाब: मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा डिजिटल माध्यम से स्वीप गतिविधियों की शुरूआतश्री राम जन्मभूमि निर्माण की ख़ुशी में सैंकड़ों दिए जलाकर मनाई दीपावलीपेट्रोल— डीजल के थोक और खुदरा विपणन का अधिकार नियमों को बनाया सरलजनशिकायतों निपटारे के लिए आईआईटी कानपुर तथा प्रशासनिक सुधार और लोकशिकायत विभाग के साथ त्रिपक्षीय कराररूड़की में वेस्ट टू एनर्जी प्लांट लगाए जाने के संबंध में बैठक, 05 सितम्बर तक बिड प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देशधौला कुआं में आईआईएम का शिलान्यास
पंजाब

पंजाब सरकार ने बारहवीं, ओपन स्कूल की लम्बित परीक्षाओं को रद्द किया

July 10, 2020 07:54 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब सरकार ने विभिन्न कक्षाओं की लम्बित पड़ी परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है जो पहले पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (पीएसईबी) द्वारा 15 जुलाई के बाद करवाने का ऐलान किया गया था। शिक्षा मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार ने बारहवीं कक्षा की सभी लम्बित परीक्षाओं, ओपन स्कूल और री-अपीयर और गोल्डन चांस वाले विद्यार्थियों सहित कई अन्य श्रेणियों की सभी लम्बित परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि यह फैसला कोविड-19 महामारी फैलने के कारण पैदा हुई संकटकालीन स्थिति के मद्देनजर लिया गया है।
कैबिनेट मंत्री ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा कोरोना वायरस की चुनौतियों के कारण निकट भविष्य में परीक्षाएं करवाना संभव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की रहनुमाई के अनुसार अब बढिय़ा प्रदर्शन करने वाले विषयों के आधार पर नतीजा घोषित जायेगा क्योंकि कुछ विषयों की परीक्षाएं पहले ही पीएसईबी द्वारा कोरोना वायरस के फैलने से पहले ली जा चुकी हैं। उन्होंने आगे कहा कि नतीजों की घोषणा भी समय की जरूरत है ताकि विद्यार्थी उच्च शिक्षा में अपनी इच्छानुसार कोर्सों का समय रहते चयन कर सकें।
श्री सिंगला ने अधिक जानकारी देते हुए बताया कि उदाहरण के तौर पर अगर कोई विद्यार्थी सिर्फ 3 विषयों की परीक्षाएं दे चुका है तो बाकी रहते विषयों (जिनकी परीक्षाएं नहीं हुईं) के अंक, बढिय़ा प्रदर्शन वाले दो विषय में प्राप्त किये अंकों के औसत के आधार पर दिए जाएंगे।
उन्होंने आगे कहा कि प्रैक्टिकल विषयों के अंक और नौकरी के प्रशिक्षण पर, व्यावसायिक विषयों के लिए भी इसी आधार पर दिए जाएंगे।
श्री सिंगला ने कहा कि ओपन स्कूल विद्यार्थियों के मामले में बोर्ड पिछली परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर नतीजों का ऐलान करेगा और उनके द्वारा पहले के सैशनों के पास किये विषयों (क्रेडिट कैरी फार्मूले) में से प्राप्त किये अंकों के आधार पर औसत अंक दिए जाएंगे।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि री-अपीयर या कम्पार्टमैंट के लिए पी.एस.ई.बी. के गोल्डन /फाईनल चांस के लिए जिन विद्यार्थियों ने इम्तिहान में बैठना था को भी उनके द्वारा पहले पास किये गए विषयों के आधार पर औसत अंक दिए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि जिन विद्यार्थियों के पास डिविजन में सुधार करने या री-अपीयर के लिए लम्बित मौका है, वह सिर्फ एक पेपर जो नहीं हुआ के लिए फीस जमा करवाएंगे और उनको बिना अतिरिक्त फीस दिए भविष्य में इम्तिहान देने के लिए अतिरिक्त मौका दिया जायेगा। सामान्य हालात होने के बाद इसके लिए अलग से डेटशीट जारी की जायेगी।

 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें