ENGLISH HINDI Tuesday, August 21, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
अनिल शर्मा बने फोटोग्राफर एसोसिएशन डेराबसी के प्रधानजीरकपुर खबरनामा: अलग अलग स्थानों से घरों के बाहर खड़ी दो कारे चोरी,बुज़ुर्ग महिला की चेन झपटने की कोशिशपूर्वांचल सांस्कृतिक संघ चण्डीगढ़ की ओर से अखंड अष्टयाम पूजा सम्पन उत्तरी राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा नशों संबंधी डाटा सांझा करने, पंचकुला में केंद्रीय सचिवालय स्थापित करने का फैसलामंत्रिमण्डल ने श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक प्रस्ताव पारित कियामुख्यमंत्री का मादक पदार्थों रोकथाम हेतु संयुक्त रणनीति बनाने पर बल11वीं जुनियर पंजाब स्टेट नेटबॉल चेंपियनशिप धूमधाम के साथ संपन्नकर्तव्य पथ पर प्राण न्योछावर करने वाले राजेश कुमार को मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि
एन. आर. आई.

गुरदासपुरआयुक्त और एसएसपी को डैनमार्क आधारित एनआरआई की सम्पत्ति को खाली करवाने को यकीनी बनाने के आदेश

July 11, 2014 07:57 PM

चण्डीगढ़ (फेस2न्यूज ब्यूरो) 

उपायुक्त को 23 सितम्बर तक कार्रवाई रिपोर्ट पेश क रने के लिए कहा


पंजाब के एनआरआईआयोग ने ने उपायुक्त और एसएसपी गुरदासपुर को डैनमार्क आधारित एनआरआई श्री सुरजीत सिंह आहलूवालिया की सम्पत्ति का कब्जा सौंपने के लिए तुरन्त कार्रवाई के आदेश दिये हैं और इस सम्बन्ध में 23 सितम्बर 2014 तक आरोपी अधिकारी की जिम्मेवारी फिक्स करने के पश्चात कार्रवाई रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है। आज यहां एनआरआई आयोग के एक प्रवक्ता ने बताया कि स. आहलूवालिया जोकि शारीरिक तौर पर अपाहिज और डैनमार्क के नागरिक हैं, ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि वह गुरदासपुर जिले के गांवों पुराणा चावला में एचबी 625 में 18 कनाल, 6 मरले जमीन का मालिक है। शिकायत में उन्होंने बताया कि आरोपियों में से एक गुरनाम सिंह ने उसकी गैर उपस्थिति का फायदा उठाकर जाली पावर ऑफ अटार्नी के आधार पर बलकार सिंह, जसपाल सिंह, परमजीत सिंह,चमकौर सिंह और दौलत सिंह के पक्ष में सेल डीड कर दी। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने पहले उपायुक्त, गुरदासपुर के पास एक शिकायत दर्ज करवाई थी और पूछताछ में धोखाधड़ी की पुष्टि की थी और उक्त जिक्र भूमि का मालिया इंचार्ज में उसका नाम रजिस्ट्र कर दिया गया था। इन तथ्यों की पुष्टि 1-1-2013 को डिवीजन आयुक्त, जालन्धर पंजाब ने वित्तायुक्त की जूडिशियल शक्तियों का प्रयोग करते हुए की। एनआरआई ने अपनी शिकायत में अपनी नीजि सुरक्षा की मांग के साथ-साथ सम्पत्ति का कब्जा हासिल करने की मांग की है। आयोग ने उपायुक्त और एस एस पी गुरदासपुर को नियमों अनुसार करने के लिए कहा है। उपायुक्त को यह भी निर्देश दिये गये हैं कि वह जिम्मेवारी अधिकारी के प्रति की गई कार्रवाई से अवगत करवाएं। इसके साथ ही आयोग ने प्रधान सचिव गृह, प्रधान सचिव एनआरआई मामले और डीजीपी पंजाब को तुरन्त कार्रवाई करने के लिए कहा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें