ENGLISH HINDI Saturday, January 25, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
द लास्ट बेंचर्स "और अमृत कैंसर फाउंडेशन ने महिलाओं के लिए लगाया मैमोग्राफी, डेकसा और डेंटल जांच शिविर26 को वाईस ऑफ़ इंडिया नागरिकता संशोधन एक्ट के समर्थन पर विशाल पद यात्रा कैंसर की चपेट में गांव बडबर, 6 से अधिक लोगों की हो चुकी मौतवाल्मीकि समाज ने नगर निगम कमिश्नर और पूर्व मेयर राजेश कालिया का पुतला फूंकाअवैध माइनिंग के खिलाफ हरकत में आया प्रशासन, मुबारिकपुर घग्गर नदी पर बनाए अवैध पुल को तोड़ागणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में आयकर विभाग ने लगाया रक्तदान शिविर, 108 रक्त यूनिट एकत्रितजुडो चैंपियनशिप में आर्यन ने जीता गोल्ड, प्रिंस ने रजत व अंजू ने कांस्य हासिल कियापंजाब की सर्वदलीय बैठक के बयान का कोई औचित्य नहीं: मुख्यमंत्री
एन. आर. आई.

गुरदासपुरआयुक्त और एसएसपी को डैनमार्क आधारित एनआरआई की सम्पत्ति को खाली करवाने को यकीनी बनाने के आदेश

July 11, 2014 07:57 PM

चण्डीगढ़ (फेस2न्यूज ब्यूरो) 

उपायुक्त को 23 सितम्बर तक कार्रवाई रिपोर्ट पेश क रने के लिए कहा


पंजाब के एनआरआईआयोग ने ने उपायुक्त और एसएसपी गुरदासपुर को डैनमार्क आधारित एनआरआई श्री सुरजीत सिंह आहलूवालिया की सम्पत्ति का कब्जा सौंपने के लिए तुरन्त कार्रवाई के आदेश दिये हैं और इस सम्बन्ध में 23 सितम्बर 2014 तक आरोपी अधिकारी की जिम्मेवारी फिक्स करने के पश्चात कार्रवाई रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है। आज यहां एनआरआई आयोग के एक प्रवक्ता ने बताया कि स. आहलूवालिया जोकि शारीरिक तौर पर अपाहिज और डैनमार्क के नागरिक हैं, ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि वह गुरदासपुर जिले के गांवों पुराणा चावला में एचबी 625 में 18 कनाल, 6 मरले जमीन का मालिक है। शिकायत में उन्होंने बताया कि आरोपियों में से एक गुरनाम सिंह ने उसकी गैर उपस्थिति का फायदा उठाकर जाली पावर ऑफ अटार्नी के आधार पर बलकार सिंह, जसपाल सिंह, परमजीत सिंह,चमकौर सिंह और दौलत सिंह के पक्ष में सेल डीड कर दी। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने पहले उपायुक्त, गुरदासपुर के पास एक शिकायत दर्ज करवाई थी और पूछताछ में धोखाधड़ी की पुष्टि की थी और उक्त जिक्र भूमि का मालिया इंचार्ज में उसका नाम रजिस्ट्र कर दिया गया था। इन तथ्यों की पुष्टि 1-1-2013 को डिवीजन आयुक्त, जालन्धर पंजाब ने वित्तायुक्त की जूडिशियल शक्तियों का प्रयोग करते हुए की। एनआरआई ने अपनी शिकायत में अपनी नीजि सुरक्षा की मांग के साथ-साथ सम्पत्ति का कब्जा हासिल करने की मांग की है। आयोग ने उपायुक्त और एस एस पी गुरदासपुर को नियमों अनुसार करने के लिए कहा है। उपायुक्त को यह भी निर्देश दिये गये हैं कि वह जिम्मेवारी अधिकारी के प्रति की गई कार्रवाई से अवगत करवाएं। इसके साथ ही आयोग ने प्रधान सचिव गृह, प्रधान सचिव एनआरआई मामले और डीजीपी पंजाब को तुरन्त कार्रवाई करने के लिए कहा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एन. आर. आई. ख़बरें