Chandigarh

विश्व शिक्षा मेलों में एक मंच पर होंगे अंतर्राष्ट्रीय उच्च शिक्षण संस्थान

January 30, 2019 07:56 PM
चंडीगढ़,सुनीता शास्त्री
चंडीगढ़ और आसपास के कुछ अन्य स्थानों पर विश्व शिक्षा मेले आयोजित होने जा रहे हैं। इनमें सरकारी मान्यता प्राप्त कुछ सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय उच्च शिक्षण संस्थानों को एक मंच पर प्रस्तुत किया जायेगा। एडमीशन डायरेक्टर, सीईओ और कनाडा, यूरोप- विशेष रूप से फ्रांंस, ब्रिटेन, आयरलैंड, न्यूजीलैंड एवं ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के 50 से अधिक कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधि छात्रों के मार्गदर्शन के लिए उपलब्ध रहेंगे।

चार्म्स एजूकेशन एंड इमिग्रेशन सर्विसेज के विशेषज्ञों ने मीडिया के साथ यह जानकारी साझा की। यह संस्था छात्रों को कनाडा एवं अन्य कई देशों में पढ़ाई के लिए सही कोर्स, इंस्टीट्यूट और कंसल्टेंसी प्रदान करती है।‘चंडीगढ़ में वल्र्ड एजूकेशन फेयर का आयोजन 3 फरवरी (रविवार) को होटल ताज, सेक्टर 17 में किया जाएगा। इससे पहले, ऐसे ही मेलों का आयोजन 1 फरवरी को अमृतसर के होटल हॉलिडे इन और 2 फरवरी को लुधियाना के होटल पार्क प्लाजा में किया जायेगा। 

चार्म्स एजूकेशन एंड इमिग्रेशन सर्विसेज के विशेषज्ञों ने मीडिया के साथ यह जानकारी साझा की। यह संस्था छात्रों को कनाडा एवं अन्य कई देशों में पढ़ाई के लिए सही कोर्स, इंस्टीट्यूट और कंसल्टेंसी प्रदान करती है।‘चंडीगढ़ में वल्र्ड एजूकेशन फेयर का आयोजन 3 फरवरी (रविवार) को होटल ताज, सेक्टर 17 में किया जाएगा।
इससे पहले, ऐसे ही मेलों का आयोजन 1 फरवरी को अमृतसर के होटल हॉलिडे इन और 2 फरवरी को लुधियाना के होटल पार्क प्लाजा में किया जायेगा। एनसीआर दिल्ली के छात्रों को भी खुश होने मौका है, क्योंकि 4 फरवरी को नई दिल्ली के होटल शैनग्रिल ला एरोस में विश्व शिक्षा मेले का आयोजन किया जाएगा,’ मनीष पैतका ने कहा, जो चार्म्स एजूकेशन एंड इमिग्रेशन सर्विसेज के सीईओ ‘कनाडा के लिए स्टडी डायरेक्ट (एसडीएस) में कुछ नीतिगत बदलाव हुए हैं। स्टूडेंट क्वालिटी इन्टेक में सुधार हुआ है और यहां तक कि एप्लीकेशन एप्रूवल दरों में भी सुधार हुआ है।
इतना ही नहीं, नई व्यवस्था के तहत, प्रोसेसिंग के समय को परिभाषित किया गया है, जिससे कनाडा के लिए स्टूडेंट वीजा की पूरी प्रणाली तेज हो गयी है,’ राहुल पैतका, मैनेजिंग डायरेक्टर, चार्म्स एजूकेशन एंड इमिग्रेशन सर्विसेज ने कहा, जो कनाडा स्टडी वीजा एक्सपर्ट हैं और कनाडा कोर्स ग्रेजुएट भी हैं।
‘उल्लेखनीय है कि कनाडाई सरकार ने अगले तीन वर्षों में परमानेंट रेजीडेंसी के लिए छात्रों सहित 10 लाख इमिगे्रंट्स का लक्ष्य निर्धारित किया है, जो निश्चित रूप से कनाडा में ऐसे छात्रों के लिए फायदेमंद होने जा रहा है, जो जॉब एक्सपीरिएंस के साथ अपने कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा करते हैं और स्थायी निवास के लिए पात्र हो जाते हैं। ‘ऑनलाइन प्रोसेसिंग को प्राथमिकता दी जा रही है।
कनाडा सरकार ने सुरक्षा चिंताओं को ध्यान में रखते हुए बायोमेट्रिक्स भी लागू कर दिया है।न्यूजीलैंड अचानक से विदेश में पढ़ाई का एक आकर्षक अड्डा बन गया है। कारण यह है कि पोस्ट स्टडी वर्क राइट्स की नयी पॉलिसी लागू हो गयी है। अब कोर्स के आधार पर 1-3 वर्ष के बाद स्टडी वर्क के अधिकार प्राप्त किये जा सकते हैं। इतना ही नहीं, कीवी सरकार ऑकलैंड के अलावा अन्य क्षेत्रों को तेजी से बढ़ावा दे रही है। यदि ऑकलैंड क्षेत्र के बाहर कोई अध्ययन करता है, तो उसे 18 माह या अधिक समय तक पीजी डिग्री हासिल करने के लिए 30 अंक अतिरिक्त मिलेंगे। उम्मीदवारों के लिए ये स्थायी निवास के उज्ज्वल अवसर हैं।
इसके अलावा, मास्टर स्तर के पाठ्यक्रमों के लिए जाने वाले विवाहित छात्र अपने परिवारों को साथ ले जा सकते हैं और अपने बच्चों के लिए मुफ्त स्कूल शिक्षा का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यूरोप -जर्मनी में शिक्षा प्राप्त करना आर्थिक रूप से काफी आसान बना दिया है।
उम्मीदवारों को एक वर्ष का जर्मन भाषा पाठ्यक्रम पूरा करना होगा और उच्च शिक्षा शुल्क नहीं देना होगा। दो साल की मास्टर डिग्री पूरी करने के बाद छात्र वर्क परमिट पा सकते हैं।विश्व शिक्षा मेलों में नि: शुल्क प्रवेश और वीज़ा वर्कशॉप आयोजित की जाएंगी, जिनके माध्यम से उम्मीदवार मई, जुलाई, सितंबर, नवंबर-2019 और जनवरी 2020 के लिए आवेदन कर सकेंगे। ‘एक विशेष सीमित अवधि के रूप में, इच्छुक उम्मीदवारों को मुफ्त आईईएलटीएस, परामर्श, प्रवेश और वीजा सेवाएं प्रदान की जाएंगी। हम चार्म्स एजूकेशन एंड इमिग्रेशन में छात्रों को वन स्टॉप सर्विस प्रदान करने के लिए मोहाली, लुधियाना, मोगा, बठिंडा और नई दिल्ली में आईईएलटीएस सेंटर स्थापित कर चुके हैं ।
Have something to say? Post your comment
Copyright © 2017, Face 2 News, All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy Disclaimers