ENGLISH HINDI Sunday, April 22, 2018
Follow us on
पंजाब

फर्जी नियुक्ति पत्र देकर तीन तीन लाख ठगने वाला काबू, 20 लोगों से ठगी होने की आशंका!

April 14, 2018 08:27 PM

*हिमाचल, पंजाब और हरियाणा के नौजवान थे आरोपी इंद्रजीत के टारगेट पर
*हरियाणा पुलिस में खुद को डीएसपी बताकर जमाता था रौब

जीरकपुर, जेएस कलेर

बेरोजगारों को ठगने के मामले आये दिन सामने आ रहे है। जनपद में बेरोजगारों को ठगने के मामले रुकने का नाम ही नही ले रहे है।आये दिन कोई न कोई बेरोजगार सरकारी नोकरी के लहरे में आकर अपना सब कुछ गवा देते है।जिसके बाद उनको फर्जी नियुक्ति पत्र देकर गुमराह किया जाता है।

ताजा मामला जिरकपुर क्षेत्र से सामने आया है। जहाँ पर करीब तीन बेरोजगारों को हरियाणा विद्युत निगम में नोकरी दिलाने के नाम तीन तीन लाख रुपये लेकर उनको नकली जवाइंग लेटर थाम दिया। जिसके बाद जब तीनों नोकरी जवाइंग करने पहुँचे तो उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई। वहां से पता चला की ये सभी जवाइंग लेटर फ़र्जी है।जिसके बाद सभी लोग वापस लौट आये।

नौकरी दिलाने का झांसा देने के नाम लाखों रूपए ठगी करने वाले एक शख्स को जिरकपुर पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। वहीं, पुलिस ने आरोपी के कब्जे से नकली अप्वाइंटमेंट लेटर, स्टाम्प व नकली पहचान पत्र भी बरामद किए हैं, जिसके खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज करके आगामीं कार्रवाई शुरू कर दी है। पकड़े गए आरोपी की पहचान इंद्रजीत सिंह (52) निवासी पानीपत (हरियाणा) के रूप में हुई है, जिसको कल रविवार अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड हासिल करेगी। पुलिस के अनुसार, आरोपी लंबे समय से ऐसे कार्यों को अंजाम देकर ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहा था, जिसको पुलिस ने शुक्रवार देर शाम रंगे हाथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

‘मैं हरियाणा पुलिस में डीएसपी हूं, और मेरी वहां अच्छी जान पहचान है’ :
मदन लाल निवासी मकान नंबर-135, गांव मक्खन माजरा, दड़वा (चंडीगढ़) ने पुलिस को बताया कि जीरकपुर में मेरी वर्कशाप है, जहां कारों की रिपेयर आदि का काम करता हूं। वहीं, मेरी वर्कशाप के ठीक पास एक चाय की दुकान है, जहां इंद्रजीत चाय पीने आता था। उसने बताया कि इंद्रजीत से फरवरी माह में मेरी मुलाकात चाय की दुकान पर हुई, जिसने बातचीत दौरान खुद को हरियाणा पुलिस विभाग में बतौर डीएसपी बताया। शिकायत के अनुसार, चाय की दुकान पर कुछ दिनों की मुलाकात के बाद इंद्रजीत ने मेरे साथ वर्कशाप में काम करने वाले भतीजे रोहित कुमार को हरियाणा विघुत निगम में बतौर कलर्क नौकरी दिलाने का झांसा दिया, जिसकी एवज में 3 लाख रूपए की मांगे और इंद्रजीत के साथ रोहित, गौरव और नरिंदर कुमार को हरियाणा बिजली निगम में नौकरी दिलाने साढ़े 6 लाख रूपए में सौदा तय हो गया। मदन लाल ने बताया कि सौदे के बाद इंद्रजीत ने मेरे भतीजों के नाम ज्वाइनिंग लेटर थमा दिए, जिसके बाद आरोपी इंद्रजीत मुझसे सारे पैसे ऐंठकर ले गया। आरोप है कि उक्त ज्वाइनिंग लेटर लेकर मैं हरियाणा बिजली विभाग मुख्यालय (पंचकूला) गया तो उन्होंने उक्त लेटर को फर्जी करार दे दिया, जिसके बाद इंद्रजीत से संपर्क साधना शुरू कर दिया। लेकिन इंद्रजीत का फोन बार-बार लगाने का स्विच ऑफ मिला। वहीं, अपने साथ हुई ठगी की शिकायत स्थानीय पुलिस को दर्ज करवा दी।

इंद्रजीत को ट्रेप लगाकर पुलिस ने किया गिरफ्तार :
एसएचओ पवन शर्मा ने बताया कि मदन लाल की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एएसआई अजीत सिंह के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया, जो आरोपी इंद्रजीत की तलाश को लेकर कार्रवाई में जुट गई। वहीं, एक दिन मदन लाल से फोन करवाकर इंद्रजीत कौर बहाने सिर उसी चाय की दुकान पर दोबारा बुलवाया और जैसे ही इंद्रजीत वहां पहुंचा तो पहले से ट्रेप लगाकर बैठी पुलिस ने उसको हिरासत में ले लिया। वहीं, आरोपी के कब्जे से पुलिस को उसकी पहचान पत्र के अलावा 17 अप्वाइंटमेंट लेटर, जाली स्टाम्प व अन्य फर्जी दस्तावेज बरामद कर लिए हैं, जिसकी जांच के बाद आगामीं कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा।

हरियाणा, हिमाचल और पंजाब के नौजवान थे इंद्रजीत के टारगेट पर :
जांच अधिकारी एएसआई अजीत सिंह ने आरोपी के कब्जे से मिले फर्जी अप्वाइंटमेंट लेटर अलग-अलग राज्यों के सरकारी विभागों से जुड़े हैं। अजीत सिंह ने बताया कि आरोपी इंद्रजीत ऐसे कार्य के लिए नौजवानों को टारगेट बनाता था, जिनको सरकारी पुलिस, रोडवेज, बिजली विभाग में नौकरी दिलाने का झांसा देता था। उन्होंने बताया कि आरोपी अपनी गतिविधियों को खास करके हरियाणा, हिमाचल और पंजाब में चलाता था। जबकि इसके खिलाफ पहले भी अलग-अलग थानों में मामले दर्ज हैं, जिसके लिए पुलिस अन्य थानों के साथ संपर्क साधने में लगी हुई है।

::::: पुलिस ने ट्रेप लगाकर एक शख्स को गिरफ्तार किया है, जो भोले भाले लोगों को सरकारी पदों पर नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी कर रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपी खुद को हरियाणा पुलिस विभाग में डीएसपी बताकर लोगों पर रौब झाड़ता था, जो सब फर्जी है। आरोपी खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज करके आगामीं कार्रवाई शुरू कर दी है।
-पवन कुमार शर्मा, एसएचओ, पुलिस थाना जीरकपुर।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
जगह-जगह फैली गंदगी ने लोगों को किया जीना मुहाल, विरोध में रविवार को निकलेंगे मार्च किसानों से वसूली करने गए फील्ड अधिकारी को बनाया बंधक, पुलिस ने छुड़वाया उज्वला दिवस पर पंजाब ने 705 विभिन्न स्थानों पर बाँटे 60 हज़ार गैस क्नैक्शन नगर कौंसिल का क्लर्क रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू पंजाब कैबिनेट के विस्तार को मंजूरी, 9 नए मंत्री होंगे शामिल वन क्षेत्र में ग़ैरकानूनी माइनिंग बर्दाश्त नहीं: धर्मसोत मामला इमारत गिरने का: मैजिस्ट्रेट जांच लम्बित होने तक कोई नहीं होगा बिल्डिंग प्लान पास: सिद्धू ज़ीरकपुर में खसरा पीड़ित 9 संभावित मरीज़ मिले अवैध रास्ता बनाने के आरोप में केस दर्ज कचरा फेंकने की जगह न मिलने पर सफाई सेवकों ने किया प्रदर्शन