पंजाब

करंट से ठेकाकर्मी झुलसा, बिजली ठेकाकर्मियों ने किया पावरकॉम दफ्तर का घेराव

April 16, 2018 08:49 PM

जिरकपुर, जे एस कलेर:
जिरकपुर के छत गांव स्थित एयरपोर्ट चोक पर डीपी बदलने के दौरान करंट से एक ठेकाकर्मी झुलस गया था। ठेकाकर्मियों ने 3 जे.ई गुरप्रीत सिंह, सरबजोत सिंह व अमृतपाल सिंह पर करंट से झुलसे बिजली कर्मचारी के हक में आवाज बुलंद करने के खिलाफ धमकाने का आरोप लगाया है। जिससे ठेकाकर्मियों में रोष व्याप्त हो गया। जिस पर गुस्साएं ठेकाकर्मियों और घायल के परिजनों ने जिरकपुर स्थित पावरकाम दफ्तर का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए। इसके बाद ठेकाकर्मी उच्चाधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे। वहीं जिरकपुर पावरकॉम के अंतर्गत आने वाले 2 जीएसएस पर करीब 28 निजी कर्मचारी कार्यरत है। ऐसे में सभी काम को छोडकर धरने पर बैठे रहे।    

गुस्साएं ठेकाकर्मियों और घायल के परिजनों ने जिरकपुर पावरकॉम दफ्तर का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए।


धरने पर बैठे पावरकॉम व ट्रांसको ठेकाधारित कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलिहार सिंह के अनुसार बीती कल दोपहर रामकरन बिजली बोर्ड में ठेका आधारित लाइनमैन है। गांव का छत में हाइटेंशन तारो पर काम कर रहा था। तार बदलने के दौरान अचानक वह करंट की चपेट में आ गया और उसे जबरदस्त झटका लगा। इसके चलते वह बुरी तरह झुलस कर 11 मीटर के ख़म्बे से नीचे गिर गया जिसे इलाज के लिए सोहन स्थित गुरु हरकृष्ण साहिब चैरिटेबल हस्प्ताल में भर्ती करवाया गया। धरने के दौरान गुरदीप दियोल, मानी, किमी और रजिंदर कुमार आदि ने पावरकॉम के जे.ई गुरप्रीत सिंह, सरबजोत व अमृतपाल सिंह ने आरोप लगाया कि वह सभी ठेकाधारित कर्मचारियों को धरना लगाने पर काम से हटाने के लिए धमकियां दे रहे है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह हादसा पावरकॉम की लापरवाही, वर्कलोड ज्यादा होने व उन्हें उपयुक्त टूल्स न देने का भी आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि पावरकॉम ने उन्हें पिछले 4 महीने से सैलरी नहीं दी है जिससे उनकी आर्थिक स्थित बद से बत्तर होती जा रही है।
इस बारे में जब जिरकपुर पावरकॉम के एस.डी.ओ रोहित कुमार से बात करनी चाही तो बार बार फोन करने पर भी फोन नहीं उठाया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें