ENGLISH HINDI Wednesday, April 24, 2019
Follow us on
हिमाचल प्रदेश

पौंग विस्थापितों के लिए लगेंगे विशेष शिविर

January 19, 2019 06:39 PM
धर्मशाला, ( विजयेन्दर  शर्मा )
हिमाचल सरकार पौंग बांध विस्थापितों के पुनर्वास को लेकर गंभीर है। विस्थापितों के लंबित पड़े मामलों को शीघ्र सुलझाने के लिए उनके दावों से जुड़े दस्तावेज पूरा करने हेतु विशेष शिविर लगाए जाएंगे। उपायुक्त राहत एवं पुनर्वास,राजा का तालाब, विनय मोदी ने इस बारे जानकारी देते हुए बताया कि इन शिविरों में लोगों के जमीनी हक के मामलों को आगे बढ़ाने एवं इनमें तेजी लाने के लिए दावों से जुड़े आवश्यक दस्तावेज पूरा करने की सुविधा उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व मनीषा नंदा ने लोगों की सुविधा के लिए विस्तृत योजना बना कर शिविर लगाने के निर्देश दिए थे। उनके निर्देशानुरूप शिविरों की योजना बनाई गई है। 
यहां लेगेंगे शिविर
विनय मोदी ने कहा कि इस श्रृंखला में पहला शिविर 23 जनवरी को ज्वाली के तहसील कार्यालय में लगाया जाएगा। इसके तहत कानूनगो सर्कल ज्वाली और भरमाड़ के मामले देखे जाएंगे। दूसरा शिविर 24 जनवरी को कानूनगो सर्कल नगरोटा सूरियां के मामलों के लिए उपतहसील कार्यालय नगरोटा सूरियां में   लगेगा। तीसरा शिविर 30 जनवरी को तहसील कार्यालय फतेहपुर में आयोजित किया जाएगा, जिसमें कानूनगो सर्कल फतेहपुर और धमेटा के लोगों के लिए दावों से जुड़े आवश्यक दस्तावेज पूरा करने की सुविधा उपलब्ध होगी। 31 जनवरी को चौथा शिविर तहसील कार्यालय डाडासीबा में कानूनगो सर्कल डाडासीबा और चनौर के लोगों के लिए, पांचवा शिविर 6 फरवरी को तहसील कार्यालय ज्वाली में कानूनगो सर्कल हरसर के लोगांे के लिए, छठे शिविर में 7 फरवरी को तहसील कार्यालय देहरा में कानूनगो सर्कल देहरा और ढलियारा से संबंधित पौंग विस्थापितों के जमीनी हक के मामलों को लेकर आवश्यक दस्तावेज पूरा करने की सारी प्रक्रिया की जाएगी।
उन्होंने बताया कि इस कड़ी में सातवां शिविर 13 फरवरी को तहसील कार्यालय फतेहपुर में आयोजित होगा। इसमें कानूनगो सर्कल डूहग व राजा का तालाब, 14 फरवरी को तहसील कार्यालय जसवां कोटला के कानूनगो सर्कल कोटला व जंडौर, आठवें शिविर में  21 फरवरी को उप तहसील कार्यालय हरिपुर में कानूनगो सर्कल हरिपुर व बिलासपुर एवं नवें शिविर में 28 फरवरी को तहसील कार्यालय देहरा में कानूनगो सर्कल बढल के पौंग विस्थापितों के लिए जमीनी हक के दावों से जुड़े आवश्यक दस्तावेज पूरा करने की सुविधा उपलब्ध रहेगी। 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें