ENGLISH HINDI Saturday, April 20, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
पत्नी ने ही प्रेमी संग मिलकर पति की कर दी हत्या, ब्लाइंड मर्डर केस की सुलझी गुत्थी नए भारत की भूमिका को तय करेंग लोक सभा चुनावःमुख्यमंत्री आईसीआईसीआई बैंक ने शिमला में लांच किया ‘इंस्टाआटो लोन’और ‘इंस्टा टू-व्हीलर लोन’जीरकपुर में भाजपा और रखड़ा को बड़ा झटका, 26 कार्यकरिणी सदस्यों ने दिया इस्तीफामहिला मंडल द्वारा श्री हनुमान जन्मोत्सव बड़ी श्रृद्धा के साथ मनाया गयाजनता की अदालत में फैसला अभी बाकी हैसीपीआई (एमएल) ने विद्यार्थियों पर जबरन थोपे जा रहे हिंदी और इंग्लिश मीडियम का किया विरोध'एशियन यूथ नैटबॉल चैंपियनशिप'जापान में, खिलाडिय़ों के लिए कैंप व ट्रॉयल बठिंडा स्पोर्टस अकेडमी में
पंजाब

बहुचर्चित सेठी ढाबा, जहां मनाया जाता था गुरदास मान का बर्थ डे: कोर्ट के आदेश पर हटाया गया

April 09, 2019 08:14 PM

स्वच्छ अभियान के ब्रांड अम्बेसडर समाजसेवी सोनू सेठी ढाबा के मालिक 

जीरकपुर, जेएस कलेर
जीरकपुर अंबाला रोड़ पर सन 2008 से समाजसेवी व स्वच्छ भारत अभियान जीरकपुर के ब्रांड एम्बैसडर सोनू सेठी की ओर से चलाए जा रहे सेठी ढाबे को मंगलवार को अदालत के आदेशों के बाद हटा दिया गया. यह कार्रवाई जीरकपुर पुलिस की देख रेख में चली.
जमीन मालिक नोनिहाल सिंह सोढ़ी ने सन 2008 में सोनू सेठी को यह जगह किराए पर दी थी उंसके बाद सोनू सेठी ने यहाँ अपना पहला ढाबा बनाया व गुरदास मान की तस्वीरें लगा हर समय उनके गाने चला कुछ ही वर्षों में इस सड़क पर चलने वाले साधारण ढाबों को बिजनेस करने का एक नया आइडिया दिया था, जिसमें नोनिहाल सिंह सोढ़ी ने भी उनका भरपूर साथ दिया था। यहां गुरदास मान का बर्थ डे भी मनाया जाता रहा' इसके बाद सोनू सेठी ने इसी सड़क पर एक अन्य ढाबा, डेराबस्सी में व एक दप्पर में खोल लिया था औ खुद समाजसेवा के कार्यों में जुट गए थे।

नोनिहाल सिंह की जगह पर करीब 11 वर्ष पहले किराए की जगह पर सेठी ढाबा बना 2013 में उक्त जगह पर कब्जा कर लिया और उनका व मालिक का किराए को लेकर विवाद चल पड़ा। सोनू सेठी ने नोनिहाल सिंह की शुरुआती मदद को भूलकर उनके खिलाफ कोर्ट से सटे हासिल कर ली। जिसके कारण सोढ़ी ने उक्त जगह का कब्जा सोनू सेठी से छुड़वाने के लिए अदालत का सहारा लिया। निचली अदालत से हाईकोर्ट तक वर्षों चले इस केस के बाद कार्यवाही करते हुए जज ने जगह के मालिक नोनिहाल सोढ़ी के हक में फैसला सुनाया। जिस पर कार्रवाई करते हुए जज ने डीसी, एसएसपी को पत्र लिखकर उक्त जगह का कब्जा नोनिहाल सिंह को दिलाने के आदेश दिए। इस पर जीरकपुर पुलिस व अदालत की ओर से भेजे गए दो अधिकारियों की मौजूदगी में  आखिर जगह का कब्जा सोढ़ी को दिलवा दिया गया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
पत्नी ने ही प्रेमी संग मिलकर पति की कर दी हत्या, ब्लाइंड मर्डर केस की सुलझी गुत्थी जीरकपुर में भाजपा और रखड़ा को बड़ा झटका, 26 कार्यकरिणी सदस्यों ने दिया इस्तीफा बारिश और आँधी से फसल नुक्सान का जायज़ा लेने बुलाई आपदा प्रबंधन कमेटी की बैठक देर रात तक क्लब चलाने के आरोप में पिटब्रयु ख़िलाफ़ केस दर्ज मोटरसाइकिल सवार युवकों ने डिलीवरी देने जा रहे गैस एजेंसी कर्मियों को लूटा ऑनलाइन शॉपिंग पर ठगी, मंगाया प्रिंटर निकला पत्थर 19,000 की रिश्वत लेता पटवारी और बिचौलिया काबू सड़क पर कूड़ा फेंकने वाले नगर काउंसिल कर्मियों और दो वेस्ट कलेक्टर्स पर जुर्माना पंजाबी सभ्याचार मंच की कार्यकारिणी घोषित 18 अप्रैल को जम्मू एवं कश्मीर के कामगारों की वेतन समेत छुट्टी