ENGLISH HINDI Friday, July 19, 2019
Follow us on
हिमाचल प्रदेश

प्रधानमंत्री की तुलना ‘नई दुल्हन’ से करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू की मानसिकता स्त्री विरोधी : इंदू गौस्वामी

May 12, 2019 05:53 PM

धर्मशाला  ( विजयेन्दर शर्मा)।

भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्षा इंदू गौस्वामी ने प्रधानमंत्री की तुलना ‘नई दुल्हन’ से करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू के बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि इससे उनकी स्त्री विरोधी मानसिकता का पता लगता है। उन्होंने कहा कि सिद्धू का यह बयान उनकी स्त्री विरोधी बीमार मानसिकता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि एक ओर भारतीय महिलाएं हर क्षेत्र में नई-नई उपलब्धियां हासिल कर रहीं है और सिद्धू उनको केवल अपने स्त्री विरोधी चश्में से देखते हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान देकर कांग्रेस पार्टी यह दिखाना चाहती है कि देश व प्रदेश की आधी आबादी कमजोर और गई-गुज़री है। सिद्धू को महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए।  

उन्होंने कहा कि महिलाओं के प्रति अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करके सिद्धू ने कांग्रेस के दावों की पोल खोल दी है। कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने हाल ही में पार्टी के गुंड़ों से परेशान होकर कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि राहुल गांधी कांग्रेस में महिलाओं के खिलाफ गुंड़ागर्दी को बढ़ावा दे रहे हैं।  
भाजपा नेत्री ने कहा कि आज कांग्रेस राजनीति में अपने निम्नतम स्तर तक गिर चुकी है। इस पार्टी के नेताओं को यह भी याद नहीं है कि झांसी की रानी से लेकर आज तक महिलाओं ने घर परिवार की जिम्मेदारी निभाने के साथ-साथ समाज और देश के लिए बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दी हैं। सिद्धू के बयान में प्रधानमंत्री की तुलना “नई दुल्हन“ से करना एक पुरूषवादी सामंत सोच का प्रतीक है। यह कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की सोच को ही नहीं बल्कि संस्कारों को भी उजागर करता है। 
 
उन्होंने कहा महिलाएं आज नरेन्द्र मोदी सरकार में विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री जैसे अत्यंत महत्वपूर्ण पद संभाल रही हैं। आज महिलाएं अपने घर, खेत, पंचायत, दफ्तर, टैªफिक, सैन्य मोर्चा, विधानसभा और संसद संभालने से लेकर फाइटर विमान तक उड़ा रही हैं। देश के बहुमुखी विकास में महिलाओं का योगदान उल्लेखनीय रहा है। आज़ादी की लड़ाई में भी महिलाओं ने अंग्रेजों से लोहा लिया था। 
 
उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू और कांग्रेस नेताओं को महिलाओं को सम्मान करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि जो पार्टी महिलाओं का सम्मान नहीं कर सकती उसे उनसे वोट मांगने का कोई अधिकार नहीं है। कांग्रेस के सिद्धू को अपने शर्मनाक बयान के लिए महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
100 मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना के लिए एमओयू हस्ताक्षरित कलराज मिश्र को हिमाचल प्रदेश का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया छात्र हिंसा से जुड़ी ‘फेक्ट फाइंडिंग’ रिपोर्ट हो सार्वजनिक शतरंज खेल को मुख्यधारा में शामिल करे सड़क हादसों से बचने के लिए यातायात नियमों की करें पालना: एसएचओ जनमंच से होगा समस्याओं का त्वरित निपटारा उच्च स्तरीय बैठक में अधिकारियों से सक्रिय योजनाओं को समय पर पूरा करने के निर्देश जेसीसी की में हिमाचल की तकनीकी सहयोग परियोजना में कृषि फसल विविधीकरण को बढ़ावा डिजिटल इंडिया में अपनी उपलब्धियां प्रदर्शित करेगा हिमाचल मुकेश अंबानी ने हिमाचल में निवेश करने में दिखाई रुचि