ENGLISH HINDI Monday, February 24, 2020
Follow us on
 
पंजाब

कुलजीत सिंह रंधावा ने बादल का रिकार्ड तोडा, सर्वसम्मति से बने चौथी बार पंजाब राज परिषद के प्रधान

October 05, 2019 08:12 PM

डेराबस्सी, पिंकी सैनी
पंजाब राज पंचायत परिषद की एक मीटिंग शनिवार को यहां एक होटल में हुई जिसमें पंजाब से सभी प्रधान व वाइस प्रधान हाजिर थे.मीटिंग मुख्य अतिथि ऑल इंडिया पंचायत परिषद के सेक्टर ई शीतल शंकर विजय मिश्रा की देखरेख में हुई. मीटिंग में कुलजीत सिंह रंधावा को सर्वसम्मति से चौथी बार पंजाब राज पंचायत परिषद का प्रधान बनाया गया.

  
  
इस मौके पर मिश्रा ने कहा की यह पहली बार है कि जो व्यक्ति अपने 20 साल से पंजाब का प्रधान बनेगा. इससे पहले पंजाब राज पंचायत परिषद के प्रधान सरदार प्रकाश सिंह बादल सिर्फ 15 साल के लिए बने थे, उनका रिकॉर्ड तोड़ते हुए सरदार कुलजीत सिंह रंधावा 20 साल पूरे करेंगे. उनका यह पद 2023 तक के लिए मान्य है.

इस मौके पर सरदार कुलजीत सिंह रंधावा ने आए हुए सभी मेंबरों में गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया और धन्यवाद भी किया कि जिन्होंने उन पर विश्वास जिता कर हौसला अफजाई की है. उन्होंने कहा, मैं विश्वास दिलाता हूं कि पंजाब राज पंचायत परिषद का जितना भी हो सके अपनी ओर से सुधार करूंगा वह लोगों को पंचायत के हकों के बारे में जागृत करूंगा

उन्होंने कहा कि इससे पहले उन्होंने पूरे पंजाब में घूम घूम कर पंचायतों को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक किया है और लोगों में पंचायतों के प्रति और जागरूकता पैदा करने के लिए जोर शोर से काम किया जाएगा. मैं जब भी मुझे दिल्ली में विज्ञान भवन में प्रधानमंत्री के साथ सभी पंचायत परिषद के प्रधानों की मीटिंग होती है, पंजाब के हकों के बारे में उन्हें अवगत करवाता हूं. मैंने अबकी बार नरेंद्र मोदी से भी पंजाब के हकों के बारे में अवगत कराया था. उन्होंने विश्वास दिलाया था कि वह पंचायतों के प्रति और अधिक अधिकारों के लिए प्रयास करते रहेंगे. सदस्यों ने कुलजीत सिंह रंधावा को फूल माला डालकर उनका स्वागत किया व उनके मुबारकबाद भी दी.

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
मूलभूत सुविधाएं न मिलने को लेकर शिवालिक निवासियों ने खोला कॉलोनाइजर के खिलाफ मोर्चा अवैध पुल व माईनिंग के खिलाफ विभाग ने दी पुलिस को शिकायत, पुलिस की जांच शुरु सर्वहितकारी विद्या मंदिर में वार्षिक कार्यक्रम सम्पन्न जेलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे, करंट वाली तार लगाने व अलग ख़ुफिय़ा विंग सहित कई फ़ैसलों की मंजूरी सरकारी संस्थानों के साईन बोर्ड, सडक़ों के मील पत्थर पंजाबी में लिखे जाना अनिवार्य: बाजवा हाईकोर्ट के आदेशों पर 100 मीटर क्षेत्र में 13 गोदामों पर चला पीला पंजा उपभोक्ता फोर्म के स्टाफ को क्यों ज्वाइन नहीं करवा रही सरकार?: चीमा ‘आप’ विधायका रूबी ने उठाया असुरक्षित स्कूलों का मामला चोरों ने बंद घर में लाखों की नगदी व गहनों पर किया हाथ साफ सरकारी मेडीकल कॉलेज मोहाली का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अम्बेदकर स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसज़ रखने को मंज़ूरी