ENGLISH HINDI Wednesday, November 13, 2019
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
रोजाना एक हज़ार बार "धन गुरु नानक" लिख रहें हैं मंजीत शाह सिंहपुत्रमोह मे फँसे भारतीय राजनेता एवं राजनीति, गर्त मे भी जाने को तैयारअज्ञात बुजुर्ग का शव मिलाहोटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजतमंदिर बनाने के हक में देर से आया सुप्रीम कोर्ट का दरूसत फैसला- सतिगुरू दलीप सिंह जीपूर्वांचल वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरु नानक देव के 550वें प्रकटोत्सव के उपलक्ष्य में छठ पूजा स्थल पर दीपमालासामूहिक विवाह समारोह: राष्ट्रीय हिन्दू शक्ति संगठन ने वैवाहिक जोड़ों को जीवन यापन का समान किया भेंटकरतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादें
पंजाब

दिल्ली पुलिस की हिमायत में उतरी पंजाब पुलिस

November 07, 2019 11:54 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
दिल्ली पुलिस पर वकीलों द्वारा किये हमले के सम्बन्ध में पंजाब पुलिस खुल कर अपने दिल्ली पुलिस के सहकर्मियों की हिमायत और मदद के लिए सामने आई है।
पंजाब पुलिस ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की और उक्त हमले के लिए जि़म्मेदार दोषियों के विरुद्ध मिसाली कार्यवाही समेत न्याय की माँग की।
यह प्रस्ताव इस तरह लिखा है: ‘‘सभी आई.पी.एस. और पंजाब पुलिस के पी.पी.एस अधिकारी, दिल्ली पुलिस के अधिकारियों पर हुए क्रूर हमले की सख्त लफ्ज़़ों में निंदा करते हैं। पुलिस अधिकारियों पर ऐसे हमले होना या ड्यूटी के दौरान किसी किस्म की बेइज़्ज़ती बर्दाश्त नहीं की जा सकती। समाज का कोई वर्ग या किसी भी श्रेणी के लोग संविधान और न्याय से ऊपर नहीं हैं। पंजाब पुलिस के सभी अधिकारी और रैंक इस सम्बन्ध में अपने भाइयों के साथ खड़े हैं और हमला करने वाले दोषियों के विरुद्ध सख्त और तत्काल कार्यवाही की माँग करते हैं जिससे पीडि़तों को न्याय मिल सके।’’
पंजाब के डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बाद में ट्वीट करते हुए लिखा हम आई.पी.एस. और पंजाब पुलिस के पी.पी.एस अधिकारी, दिल्ली पुलिस के अधिकारी पर हुए बर्बर हमले की कड़ी निंदा करते हैं। कोई भी संविधान और न्याय से ऊपर नहीं है। हम अपने भाईचारे के साथ खड़े हैं और न्याय की माँग करते हुए दोषियों के विरुद्ध कड़ी और मिसाली कार्यवाही की माँग करते हैं।’’
डी.जी.पी. ने कहा कि दिल्ली में पुलिस अधिकारियों पर वकीलों द्वारा किया हमला कानून की धज्जियाँ उड़ाने की तरह है और यह क्षमा योग्य नहीं। बहादुर और अनुशासित अधिकारियों की तरह पुलिस ने बिना किसी बदले की भावना से इस हमले को झेला है और यह अब न्याय प्रणाली की विभिन्न एजेंसियों पर निर्भर करता है कि वह मामले की अपेक्षित पड़ताल करके दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही को यकीनी बनाएं। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही इन हमलावरों के विरुद्ध कोई सख्त कार्यवाही नहीं की जाती तो इससे ड्यूटी निभाने के समय (विशेषकर पंजाब और जम्मू-कश्मीर जैसे सरहदी राज्यों में ड्यूटी के दौरान) रोज़मर्रा की अपनी जान जोखिम में डालने वाले पुलिस अफसरों का मनोबल गिर जायेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
अज्ञात बुजुर्ग का शव मिला होटल भी अवैध, एसटीपी भी नहीं, कौन दे रहा लोगों की सेहत से खिलवाड़ की इजाजत करतारपुर साहिब से लौटे इन्फोटेक चेयरमैन एसएमएस संधू ने साझा की यात्रा की सुनहरी यादें नगर कौंसिल ने प्लास्टिक मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत मुकाबले करवाए 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में हलवा प्रसाद और चने का लंगर लगाया 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित कीर्तन दरबार करवाया मामला ढकोली में महिला को बंधक बना लूटने का: 7 तोले सोना व 45 हजार की हुई लूट दहेज उत्पीड़न में पति समेत देवर पर किया केस दर्ज नोटबंदी आजाद भारत का अब तक का सबसे बड़ा स्कैंडल: अक्षय शर्मा घर में घुस कर औरत को हथियारों की नोक पर बंधक बना कर लूटा