ENGLISH HINDI Thursday, January 23, 2020
Follow us on
 
पंजाब

सीएमओ दफ़्तर का इंस्पेक्टर और वाहन चालक रिश्वत लेते रंगे हाथ काबू, मिलीभगत में शामिल डीएचओ फरार।

December 06, 2019 07:08 PM

सैंपल भरने के नाम पर व्यापारियों से लेते आ रहे थे मोटी रक्में, अदालत ने दोषियों से अधिक जानकारी हासिल करने के लिए पुलिस को दिया दो दिन का रिमांड।

बरनाला, अखिलेश बंसल/करन अवतार।

सैंपल भरने के नाम पर व्यापारियों से मोटी रकमें वसूल करते आ रहे सिवल सर्जन दफ़्तर के इंस्पेक्टर और वाहन चालक को विजीलैंस विभाग की टीम ने रंगेहाथ काबू किया है। जबकि मिलीभगत में शामिल मुख्यारोपी डीएचओ फऱार बताया गया है। माननीय चीफ़ जुडिशियल मैजिस्ट्रेट विनीत कुमार नारंग की अदालत ने काबू आए सेहत अधिकारी और वाहन चालक से अधिक जानकारी हासिल करने के लिए पुलिस को दो दिन का रिमांड दिया है।

  यह बताया मामला -
शहर के मुख्य बाज़ार में जैन भाइयों की'जैन ट्रेडिंग स्टोर'के नामक कन्फैक्शनरी का कारोबार है। जिसका स्टोर गांव संघेड़ा में है। जिसके मालिक रिषभ जैन पुत्र जगजीवन कुमार जैन हैं। उसने विजीलैंस विभाग को सूचना दी थी कि सेहत विभाग की सैंपलिंग टीम उनको एक साल से तंग परेशान करती आ रही है। यह जानते हुए भी टीम की तरफ से एक साल पहले भरा गया सैंपल सरकारी लैबारटरी की तरफ से सौ फीसद सही पाया गया था।

विजीलैंस अधिकारी मनजीत सिंह संधू ने बताया कि जिला सेहत अधिकारी राज कुमार, फूड सेफ्टी इंस्पेक्टर अभिनव खोसला व डराविर डरा धमका कर इस फर्म से पहले भी पचास हज़ार रुपए वसूल चुके थे और ्न्य 50 हज़ार रुपए हर तीन महीने बाद देने की धमकी देकर गए थे। उन्होंने बताया कि शिकायत के अनुसार जि़ला सेहत अधिकारी राज कुमार ने रिषभ को अपनी कोठी में बुलाया था। जहां ट्रेडिंग स्टोर का सैंपल नहीं भरने के बदले रिश्वत के लेने देने की बात हुई थी। रिश्वत की रकम फूड सेफ्टी इंस्पेक्टर अभिनव खोसला और वाहन चालक जगपाल सिंह को देने की बात कही थी। रिश्वत की जगह दाना मंडी निश्चित की गई थी।

रिषभ जैन ने विजीलैंस की टीम को फ़ोन और सूचना दी। सूचना मिलते ही विजीलैंस टीम घटना वाली जगह पर पहुंच गई। जहाँ सेहत विभाग के इंस्पेक्टर अभिनव खोसला और उनका चालक जग्पाल सिंह ले जाए थे। उसी मौके पर विजीलैंस ब्यूरो पटियाला से पहुँची टीम ने पहुंच रिषभ से वसूली रिश्वत की रकम बरामद कर ली। विजीलैंस विभाग की टीम ने तीनों दोषियों खि़लाफ़ अ/ध पीसी एक्ट 1988 और 120 -बी आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर दिया।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
रबी के मौसम के लिए नहरों में पानी छोडऩे संबंधी विवरण जारी डेंगू, मलेरिया कंट्रोल करने के लिए उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों की तरफ विशेष ध्यान दिया जायेगा: सिद्धू पंद्रह साल से अधिक पुराने तिपहिया वाहनों को इलेक्ट्रिक/सीएनजी तिपहिया वाहनों से बदला जायेगा: पन्नू बिजली का मुद्दा अब कैप्टन-जाखड़ सहित गांधी परिवार के लिए परीक्षा की घड़ी: आप विद्यार्थियों को मानसिक तनाव मुक्ती के उद्देश्य से सेमिनार का आयोजित तीन मामलों में एक पटवारी और दो ए.एस.आई. रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू खाने-पीने की अच्छी आदतें करती हैं किडनी का बचाव: डा. सुनील ‘मानक शिक्षा के लिए समाज की भागीदारी अनिवार्य’ 20,000 रुपए की रिश्वत लेता ए.एस.आई रंगे हाथों दबोचा विश्व हिंदू परिषद पंजाब की तरफ से पंजाब के माननीय राज्यपाल को दिया ज्ञापन