ENGLISH HINDI Thursday, July 09, 2020
Follow us on
 
पंजाब

दो तहसीलदारों के विरुद्ध रिश्वत का मामला दर्ज, एक गिरफ़्तार

January 17, 2020 06:54 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो द्वारा भ्रष्टाचार अंतर्गत दो नायब तहसीलदारों के विरुद्ध भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया गया है जिनमें से एक नायब तहसीलदार को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ़्तार किया है।
जानकारी देते हुए विजीलैंस ब्यूरो प्रवक्ता ने बताया कि जि़ला तरन तारन के परगट सिंह की शिकायत पर राजपुरा (जि़ला पटियाला) के नायब तहसीलदार हरनेक सिंह को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया गया है।
उन्होंने कहा कि शिकायतकर्ता ने ब्यूरो को पहुँच करके बताया है कि उसकी अपनी ज़मीन के विभाजन सम्बन्धी पटीशन नायब तहसीलदार बनूड़ रुपिन्दर कुमार के पास विचाराधीन थी जिसने शिकायतकर्ता को नायब तहसीलदार राजपुरा के पास जाने के लिए कहा। प्रवक्ता ने आगे बताया कि नायब तहसीलदार राजपुरा ने नायब तहसीलदार बनूड़ और एसएएस नगर के अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर के पास चल रहे दो राजस्व मामलों का फ़ैसला शिकायतकर्ता के हक में करवाने के बदले दस लाख रुपए की रिश्वत की माँग की थी।
उक्त जानकारी की पुष्टि करने के बाद ब्यूरो ने जाल बिछाया और दो सरकारी गवाहों की हाजिऱी में दो लाख रुपए नकद और 8 लाख रुपए की राशि का चैक लेते हुए दोषी नायब तहसीलदार हरनेक सिंह को रंगे हाथों काबू किया गया। इस मामले में नायब तहसीलदार बनूड़ पर भी रिश्वतख़ोरी का मुकदमा दर्ज किया गया है।
उन्होंने बताया कि दोनों अधिकारियों के खि़लाफ़ भ्रष्टाचार रोकथाम एक्ट की धारा 7, 13 (2) के अंतर्गत विजीलैंस ब्यूरो, थाना एस.ए.एस. नगर में केस दर्ज कर लिया गया है और अगली जाँच जारी है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
पहलकदमी : बरनाला में घुटनों की तकलीफ के मरीजों का दूरबीन से इलाज डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा अस्पतालों का नाम ‘माई दौलतां जच्चा-बच्चा अस्पताल’ रखने का फैसला पंजाब में प्रवेश के लिए ई-रजिस्ट्रेशन हुआ अनिवार्य कोरोना महामारी: जागरूकता के लिए गाड़ीयों में ‘फट्टियाँ’ लगाने की मुहिम डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान: वर्तमान सैशन के सभी कोर्सों के लिए ली जाएंगी परीक्षाएं