ENGLISH HINDI Friday, June 05, 2020
Follow us on
 
राष्ट्रीय

बकरियां चराने गये बुजुर्ग पर जंगली सूअर का आक्रमण, बुजुर्ग की हुई मौत

April 07, 2020 09:32 PM

देहरादून, ओम रातुड़ी:
रुद्रप्रयाग- विकासखंड अगस्त्यमुनि की क्यूंजा घाटी में आज बकरियां चराने गये बुजुर्ग को जंगली सूअर ने आक्रमण कर लहूलुहान कर दिया। हमला इतना जबरदस्त था कि बुजुर्ग की मौत हो गयी।
घटना अगस्त्यमुनि विकासखंड के बाडव गांव की है जहां गांव के पास जंगल में अपनी बकरियों को चराने गए 70 वर्षीय बुजुर्ग कुंदन सिंह नेगी पुत्र गमफाल सिंह पर दोपहर करीब 2 बजे जंगली सुअर ने हमला कर दिया सुअर के हमले में बुजुर्ग व्यक्ति बुरी तरह से लहूलुहान हो गया। बुजुर्ग के चिल्लाने और शोर मचाने से आसपास के ग्रामीण जब मौके की तरफ पहुंचे तो देखा जंगली सूअर बुजुर्ग के शरीर को क्षत-विक्षत कर रहा था ग्रामीण बुजुर्ग को बचाने के लिए घटनास्थल की ओर दौड़े। ग्रामीणों को देख जंगली सुवर बुजुर्ग को छोड़कर भाग गया। ग्रामीण लहूलुहान बुजुर्ग को अस्पताल ले जाने की तैयारी ही कर रहे थे कि बुजुर्ग कुन्दन सिंह ने जंगल में ही दम तोड़ दिया इस घटना से पूरे गांव में भारी दहशत का माहौल बना हुआ है।
उधर कुन्दन सिह की 60 बकरियां भी गायब हो गई हैं। समस्त ग्रामीण बकरियों की ढूंढ खोज में लगे हैं। ग्रामीण शत्रुघ्न सिंह नेगी ने कहा है कि पूर्व में भी कई बार बन्य जीवों द्वारा इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम दिया गया लेकिन शासन- प्रशासन द्वारा कोई इसे रोकने हेतु कोई प्रयास नहीं किये गये।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और राष्ट्रीय ख़बरें
जेसिका लाल हत्याकांड: जेल में अच्छे व्यवहार के चलते सिद्धार्थ शर्मा उर्फ मनु रिहा मॉनसून ऋतु (जून–सितम्बर) की वर्षा दीर्घावधि औसत के 96 से 104 प्रतिशत होने की संभावना अनलॉक-1 के नाम से देश में 30 जून तक लॉकडाउन 5 लागू, क्या-क्या खुलेगा, किस पर रहेगी पाबंदी आखिर क्यों नहीं पीएमओ पीएम केयर फंड आरटीआई के दायरे में ? कितनी गहरी हैं सनातन संस्कृति की जड़ें कोरोना से युद्ध में रणनीति और वैज्ञानिक दृष्टिकोण का अभाव सीआईपीईटी केंद्रों ने कोरोना से निपटने के लिए सुरक्षात्मक उपकरण के रूप में फेस शील्ड विकसित किया एन.एस.यू.आई. ने छात्रों को एक-बार छूट देकर उत्तीर्ण करने का किया आग्रह एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव चार अन्य मामले सामने आए एम्स ऋषिकेश में कोविड पॉजिटिव के पांच नए मामले सामने आए