ENGLISH HINDI Wednesday, July 08, 2020
Follow us on
 
पंजाब

केंद्रीय जेल में दो गुटों के बीच हुई लड़ाई, ईटें चली, एक हवालाती से तेजधार हथियार व मोबाइल बरामद

May 28, 2020 03:31 PM

फिरोजपुर, (मनीष कुमार)
केंद्रीय जेल फिरोजपुर में अचानक हवालातियों के ग्रुप में लड़ाई हो गई और इस लड़ाई में ईटें चली। घटनास्थल पर पहुंचकर पेस्को के कर्मचारियों ने लड़ाई पर काबू डाला और तलाशी लेने पर एक हवालाती राजबीर सिंह से सुरक्षा कर्मचारियों ने एक चाकू जैसा तेज हथियार और एक मोबाइल फोन व बैटरी बरामद की है। यह जानकारी देते हुए थाना सिटी फिरोजपुर के सब इंस्पेक्टर जगदीप सिंह ने बताया के केंद्रीय जेल फिरोजपुर के एस पी सिक्योरिटी परमजीत सिंह गिल ने थाना सिटी फिरोजपुर की पुलिस को भेजी लिखती शिकायत ने बताया है कि केंद्रीय जेल फिरोजपुर में हवालातियों के दो ग्रुप्स में ब्लॉक नंबर 1 के सामने आपस में लड़ाई हो गई और एक दूसरे पर इंटें चलाने लगे। उन्होंने बताया कि जेल के सुरक्षा कर्मचारियों ने लड़ाई पर काबू पा लिया मगर तलाशी लेने पर एक हवालाती राजबीर सिंह से एक तैयार किया गया चाकू जैसा तेजधार हथियार, बैटरी के साथ एक मोबाइल फोन मिला है।
फिरोजपुर की केंद्रीय जेल में हवालाती गुटों में भिड़ंत हो गई जिसमें दोनों ग्रुप्स द्वारा खुलकर इंट नुकीले हथियार पत्थर चलाए गए। जेल अधिकारियों द्वारा दोनों गुटों की लड़ाई छुड़वाने के बाद इसकी शिकायत थाना सिटी पुलिस को दी गई, जिसके बाद पुलिस ने 7 के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जेल अधिकारियों को उक्त हवालातियों की तलाशी के दौरान एक मोबाइल फोन भी बरामद हुआ।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी में कोरोना का कहर: बेहड़ा में 33 पॉजिटिव, जवाहरपुर पुन: सुर्खियों में सिविल डिफेंस द्वारा रक्तदान शिविर 9 जुलाई को सिविल अस्पताल में पंजाब के 22 में से 18 जिले नशे की चपेट में : सांपला वेरका ने पशु खुराक के दाम 80-100 रुपए प्रति क्विंटल घटाये गांव खेड़ी गुजरां में दूषित पानी पीने से चार भैंसों की मौत का मामला, एसडीएम ने किया मौके का दौरा अस्पतालों का नाम ‘माई दौलतां जच्चा-बच्चा अस्पताल’ रखने का फैसला पंजाब में प्रवेश के लिए ई-रजिस्ट्रेशन हुआ अनिवार्य कोरोना महामारी: जागरूकता के लिए गाड़ीयों में ‘फट्टियाँ’ लगाने की मुहिम डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान: वर्तमान सैशन के सभी कोर्सों के लिए ली जाएंगी परीक्षाएं खजाने में सेंधमारी- फिर भी तरफदारी