ENGLISH HINDI Friday, October 18, 2019
Follow us on
 
मनोरंजन

वर्सलटाइल सिंगर बनना चाहता हूं : हार्बी सिंह

March 28, 2019 11:10 PM

चंडीगढ़,सुनीता शास्त्री।

रोमांटिक डांस गीत बदामी रंग गीत युवा पंजाबी गायक, हरभजन सिंह उर्फ हार्बी सिंह ने आज चंडीगढ़ एलांते मॉल में पेश किया। यह गाना एक रोमांटिक डांस नंबर है, जिसे इंडोनेशिया के बाली में शूट किया गया है।
हार्बी ने बताया कि दिलेर मेंहदी और सरदूल सिकंदर की गायकी बहुत पसंद है । इसके लिए रोज तानपूरे पर रियाज करता हूं। पंजाबी-हिन्दी दोनों भाषाओं में गाकर वर्सलटाइल सिंगर बनना चाहता हूं  ।
उन्होंने बताया कि बदामी रंग एक पंजाबी डांस नंबर है, जिसे पहले से ही यूट्यूब और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बड़े पैमाने पर प्रतिक्रिया मिल रही है। इस गाने के बोल लिखे हैं जीत अमन ने और म्यूजिक दिया है जयमीत ने। वीडियो को डायरेक्ट किया है हर्षित पॉल ,शुभ करमण ने और प्रोड्यूस किया ।
हार्बी ने बताया कि संगीत में गहरी रुचि के कारण कॉलेज में पढ़ाई जारी नहीं रख सके। मेरे माता-पिता ने पहले दो साल तक मेरा साथ नहीं दिया। वे चाहते थे कि मैं अपनी पढ़ाई पर ध्यान दूं। लेकिन मैंने रियाज की खातिर क्लास जाना बंद कर दिया। मम्मी-पापा अनिश्चित थे कि क्या यह काम मुझे सुरक्षित भविष्य दे सकता है। लेकिन जब मेरे रिश्तेदारों ने मेरे पिता के सामने मेरे गायन की प्रशंसा की तो एक दिन उन्होंने मुझसे पूछा कि एक गीत की शूटिंग के लिए कितने पैसे खर्च होंगे। मेरा पहला गीत मेरे माता-पिता के आशीर्वाद और समर्थन का ही परिणाम था।हार्बी के पिता अमेरिका में एक तबला वादक और शिक्षक हैं। हार्बी को तबला में उनके पिता ने ही प्रशिक्षित किया। उनके प्रेरणा स्रोत गायकों में सरदूल सिकंदर और दलेर मेहंदी का नाम सबसे ऊपर है। हार्बी का संगीत अर्बन शैली में है।
बदामी रंगी से पहले हार्बी दो गाने और गा चुके हैं। उनका पहला गीत सौन लग्गे  2017 में रिलीज हुआ था।मेरे पिता मजाक में कहते थे, जे तू म्यूजिक सी कुच ना कर पाया तां मैंनू पियो ना कही(अगर तुम संगीत में कुछ हासिल नहीं कर पाये, तो मुझे अपना पापा मत कहना,  हार्बी ने कहा।
वे 2016 से लाइव परफॉर्मेंस भी देते आ रहे हैं और दुनिया भर में कई शो कर चुके हैं। एक बैकअप गायक के रूप में अन्य कलाकारों के साथ गाते हुए, अब वे अपने खुद के गीत लाइव गाते हैं। इस 26-वर्षीय गायक में अपने बड़े सपने पूरे करने की जि़द है।दिल्ली स्थित यह गायक भांगड़ा डांसर भी रहा है। वह कॉलेज के यूथ गेम्स में परफॉर्म करते थे। गायक बनने के अपने उत्साह के साथ, हार्बी ने गायकी में प्रशिक्षण भी लिया है। उन्होंने कहा, मैं बहुत आभारी हूं कि मेरे जैसे नये सिंगर को इंडस्ट्री के बड़े कलाकारों का बहुत समर्थन रहा है।
कुंवर विर्क ने हमेशा भाई की तरह मेरा साथ दिया। मेरे लिए संगीत मेरा जुनून है और मैं खुद को ही अपना प्रतिद्वंद्वी मानता हूं। मैं हमेशा अपने पिछले गाने से बेहतर करना चाहता हूं। हार्बी ने बताया कि उनका दूसरा गीत फ्लेम पंजाबी में जल्दी ही आयेगा ।
 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और मनोरंजन ख़बरें
सुरक्षा कारणों से गुरदास मान का शो किया रद, सुनंदा और परमिश वर्मा के खिलाफ थाने में शिकायत अमोल पाराशर को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला मॉडलिंग प्रतियोगिता में सिरसा की डॉ० दीक्षा ने पाया तीसरा स्थान चेलेंजिग रोल करना पसन्द हैं :नेहा मलिक दिल की डॉक्टर निहारिका कैटरीना की तरह दर्शकों के दिल पे करना चाहती है राज हरियाणा को फिल्म निर्माण का केंद्र बनाना चाहते हैं सतीश कौशिक रोमांचक रोमांस से भरपूर है फिल्म सुर्खी बिंदी बालीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना बने ड्रीम गर्ल चण्डीगढ़ एन्क्लेव सोसाइटी की मिस मल्लिका बनी गृहलक्ष्मी तीज क्वीन दस ब्रेन लगते हैं तब अच्छा गाना बनता है:अशोक मस्ती