ENGLISH HINDI Friday, December 14, 2018
Follow us on
 
 
एस्ट्रोलॉजी
9 नवंबर, शुक्रवार , दोपहर 1.10 से लेकर 3.20 तक मनाएं भैया दूज

हमारे देश में पारिवारिक एवं सामाजिक संबंधों को अत्यंत महत्वपूर्ण एवं स्थाई माना गया है। इसीलिए हमारे हर त्योहार -पर्व रोजाना कोई न कोई संदेश लेकर आते हैं। जहां होली व दिवाली समाज को बांधते हैं वहीं रक्षा बन्धन और भाई दूज परिवारों को एक सूत्र में बांधे रखते हैं। 

5 नवंबर से दीवाली के पंच पर्व आरंभ

जैसे नवरात्रि पर नौ दिन, दुर्गा माता के नौ स्वरुपों की आराधना की जाती है, ठीक उसी भांति दीवाली के अवसर पर पंच पर्व मनाने की परंपरा है। किस दिन क्या पर्व होगा और उस दिन क्या छोटे छोटे कार्य व उपाय करने चाहिए, उसका दैनिक विवरण संक्षिप्त रुप में हम दे रहे हैं।

इस बार पूरे 9 दिन शुभ रहेंगे नवरात्र, 10 अक्तूबर से शुक्ल पक्ष से आश्विन शरद् नवरात्र आरंभ, कब और कैसे करें घट स्थापन ?

अक्टूबर महीने में कई बड़े व्रत.त्योहार हैं। जिसमें नवरात्रि दशहरा और करवा चौथ प्रमुख है। पूरे महीने लगभग 20 छोटे और बड़े तीज त्योहार होंगे। पितृ पक्ष के खत्म होने के बाद 10 अक्टूबर से नवरात्रि शुरू हो रहे हैं। नवरात्रि के खत्म होने के बाद दशहरा मनाया जाएगा। उसके बाद करवा चौथ और शरद पूर्णिमा जैसे व्रत और त्योहार भी अक्टूबर महीने में है।

श्राद्ध पक्ष. 24 सितंबर से 8 अक्टूबर 2018 तक क्यों करें श्राद्ध ? शनि ने बदली चाल तो कैसा रहेगा आपका हाल? क्या परिवर्तन लाएंगे शुक्र पहली सितंबर से आपके जीवन में ज्योतिष के अनुसार 2 सितंबर को जन्माष्टमी मनाना रहेगा सार्थक लक्ष्य ज्योतिष संस्थान टीम चतुर्थ अंतरराष्ट्रीय ज्योतिष महासम्मेलन में हुई सम्मानित राखी बांधें 26 अगस्त , रविवार को , बहनों को शगुन में भाई दे हेलमट अटल जी के जीवन के कुछ ज्योतिषीय अटल तथ्य 15 अगस्त को नाग पंचमी पर करें कालसर्प दोष से मुक्ति के उपाय पहली अगस्त से शुक्र होंगे कन्या राशि में एक मास के लिए नीचस्थ यह ग्रहण न दिखेगा दोबारा सावन में करें मंगला गौरी पूजन एवं व्रत भी शिव और सावन 104 साल बाद लगेगा 27 व 28 जुलाई की रात्रि सबसे लंबा चंद्र ग्रहण कब मनाएं सावन के सोमवार ? महीने में तीन ग्रहण क्या किसी बड़े भूकंप की पूर्व सूचना हैं? क्या कहते हैं वैज्ञानिक और ज्योतिषी ? कैसे मनाएं सावन? कैसे और क्यों मनाएं 23 जून को निर्जला एकादशी कैसे और क्यों मनाएं निर्जला एकादशी, इस साल एकादशी 23 जून को मलमास: 16 मई से 13 जून तक बंद बैंड , बाजा और बारात 18 अप्रैल की अक्षय तृतीया इस बार 11 साल बाद अत्याधिक शुभ अष्टमी , नवमी तथा कन्या पूजन कब? क्या दें कन्याओं को शगुन? कैसा रहेगा नव संवत 2075 आप और देश के लिए? जानिए... होेलिका दहन करें वीरवार 1 मार्च और होली खेलें शुक्रवार 2 मार्च को होलाष्टक 23 फरवरी से 1 मार्च, होलिका दहन पहली मार्च और रंगवाली होली 2 मार्च को करें वैलेंटाइन डे का भारतीयकरण प्रेमियों के लिए खास प्रबल योग है इस वेलेंटाइन डे पर..... कैसे और कब मनाएं श्रीमहाशिवरात्रि 13 या 14 फरवरी को ? आज का चंद्रग्रहण खंडग्रास है। यह ब्लू मून कहलायेगा 22 जनवरी को करें ऋतुराज बसंत का स्वागत और करें मां सरस्वती का पूजन माघ मकर संक्रान्ति 14 और 15 जनवरी को, खाएं व बाटें खिचड़ी 13 जनवरी को मनाएं लोहड़ी सायं 6 बजे के बाद रात्रि 11 बजकर 50 मिनट तक