ENGLISH HINDI Sunday, January 19, 2020
Follow us on
 
ताज़ा ख़बरें
प्रधानमंत्री जनकल्याणकारी योजना प्रचार प्रसार अभियान चंडीगढ़ संगठन ने अरुण सूद से मुलाकात कर दी बधाई छुप छुप कर किए थियेटर से हासिल किया मुकाम : मनु सिंहपरीक्षा पे चर्चा: पीएम मोदी से 60 से ज्यादा बच्चे पूछेंगे सवालएडवाकेट गुरदयाल शर्मा के सुपुत्र विनय शर्मा की रस्म पगड़ी 24 जनवरी कोद लास्ट बेंचर्स ने गरीब बच्चों के साथ धूमधाम से मनाया लोहड़ी का त्यौहार: बच्चों को बांटे गर्म वस्त्र, कम्बल और गिफ्ट्सविश्व हिंदू परिषद पंजाब की तरफ से पंजाब के माननीय राज्यपाल को दिया ज्ञापन1652 होमगार्ड जवानों की होगी भर्ती26 को राज्यपाल अंबाला में, मुख्यमंत्री जींद में फहराऐंगे राष्ट्रीय ध्वज
मनोरंजन

गायक और गीतकार प्रतीक मान का गीत "सूरमा" लोकार्पित

November 15, 2019 06:45 PM

चंडीगढ़:गायक और गीतकार प्रतीक मान का नया गीत "सूरमा" आज चंडीगढ़ स्थित प्रेस क्लब में लोकार्पण कर दिया गया। म्यूजिक वी गरुवज ने दिया है। गीत को तनु उतरेजा और वरुण उतरेजा ने प्रोड्यूस किया है। गीत का फिल्मांकन बैंकाक और अन्य खूबसूरत स्थानों की लोकेशन पर वीडियो डायरेक्टर जैसी सैनी द्वारा शूट किया गया है। इस अवसर पर वरुण उतरेजा, गिद्धा कोच पाल सिंह, कर्ण बाजवा और पंकज शर्मा, कर्ण शेरसिंह संधू, जसप्रीत सिंह, सतकीरत सिंह और परविंदर सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति थे।

प्रतीक मान ने बताया कि उनका गीत "सूरमा" के जरिये सूरमा और सुरमा को गीत के जरिये पेश किया गया है कि एक लड़की की आंख में डाला हुआ सूरमा किस तरह से एक सूरमे को डांवाडोल कर देता है। उन्होंने बताया कि उनके गीत संगीत का सफर धार्मिक गीत वड़ा साका से हुआ था। इसके बाद उनके अन्य गीत फोटोकापियां और पुत्त साडा को भी श्रोताओं ने बहुत पसंद किया। उन्होंने आगे बताया कि वो आने वाले समय मे वही गीत गाएंगे और पेश करेंगे जो कि सपरिवार बैठ कर देखें या सुने जा सके।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रतीक मान ने बताया कि उनका गीत "सूरमा" के जरिये सूरमा और सुरमा को गीत के जरिये पेश किया गया है कि एक लड़की की आंख में डाला हुआ सूरमा किस तरह से एक सूरमे को डांवाडोल कर देता है। उन्होंने बताया कि उनके गीत संगीत का सफर धार्मिक गीत वड़ा साका से हुआ था। इसके बाद उनके अन्य गीत फोटोकापियां और पुत्त साडा को भी श्रोताओं ने बहुत पसंद किया। उन्होंने आगे बताया कि वो आने वाले समय मे वही गीत गाएंगे और पेश करेंगे जो कि सपरिवार बैठ कर देखें या सुने जा सके।

उन्होंने बताया कि यूं तो उन्होंने बचपन से ही गीत गुनगुनाने शुरू कर दिए थे। लेकिन इसकी विधिवत शुरुआत उनके कॉलेज के समय से हुई है। प्रतीक मान अनुसार वो भांगड़े में कॉलेज कलर भी जीत चुके है। उन्हें पंजाबी सभ्याचार से संबंधित वाद्य यंत्र हारमोनियम, चिमटा, ढोल, बघचु, अलगोजे और तुम्बी इत्यादि भी अच्छी तरह से बजाने आते है। वो हॉकी और भांगड़ा में प्रशिक्षित है और आगे भी इसका प्रशिक्षण दे रहे है।

फ़िल्म जगत में भी करियर बनाने के बारे में प्रतीक ने बताया कि इस दिशा में कई निर्माता निर्देशकों से बातचीत चल रही है। पर अभी कुछ फाइनल नही हुआ है। वैसे भी अभी उनका पूरा ध्यान गायिकी की तरफ है। वो नाटको में भी हिस्सा ले चुके है। वो महिक दियाँ तँदा अकादमी के प्रधान भी रह चुके है और कई प्रोग्राम करवा भी चुके है। उन्होंने कई प्रोग्राम दिल खोल के बोल और विहड़ा विरसे दा भी बतौर एंकर होस्ट कर चुके है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और मनोरंजन ख़बरें
छुप छुप कर किए थियेटर से हासिल किया मुकाम : मनु सिंह यूएफओ डिजिटल मीडिया के खिलाफ प्रोडक्शन हाउस ने खोला मोर्चा भसीन ने अपना सोलो ट्रैक "सज्जना" श्रोताओं को किया समर्पित ‘हुकम दा यक्का’ को अलग फिल्म के रूप में देखा जाएगा द स्काई मेंशन मैं पहुंचे करण औजला , लोगों का किया मनोरंजन विद्या बालन ने शकुंतला देवी की शूटिंग पूरी की पंजाबी सिनेमा को मुख्यधारा में लाने की अनूठी पहल पॉलीवुड को बॉलीवुड के सामानांतर लाएगा “लाफा” साडा राम कांशी राम गीत के वीडियो का पोस्टर रिलीज सुरक्षा कारणों से गुरदास मान का शो किया रद, सुनंदा और परमिश वर्मा के खिलाफ थाने में शिकायत अमोल पाराशर को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला