ENGLISH HINDI Tuesday, August 04, 2020
Follow us on
 
एस्ट्रोलॉजी

समस्या और समाधान

February 17, 2019 05:18 PM

- मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद् ,चंडीगढ़, 9815619620

  नौकरी में बहुत परेशानी आ रही है। कोई सरल उपाय बताएं।
- मीनू शर्मा, खरड़।
एक नीम्बू को चार भागों में काटकर शाम के समय किसी सुनसान चौराहे पर जाकर चारों दिशाओं में एक—एक करके फेंक दे और बिना मुड़े वापिस घर आ जाएं। इस प्रयोग को आप महीने के शुक्ल पक्ष में किसी भी दिन शुरू करके लगातार 7 दिनों तक करें। यह एक परीक्षित उपाय है, इस से नौकरी में आने सभी अड़चने दूर होने लगती है और वृद्धि भी होने लगती है।

- किसी ने पैसा लिया था, परतु वापस नहीं कर रहा। घन रुकता भी नहीं।
- गुरुमुख, मोहाली।
पीपल के सात पत्ते लेकर रौली से ऊँ लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। ऊपर से गंगा जल चढ़ाएं। ऊँ नम शम्भवायष् सात बार बोलें।
फर्श व दीवारों पर बच्चे अक्सर पेंसिल से लाइने खींच देते हैं। व्यर्थ के आलेखन नहीं बनाने चाहिए। कलेश व कर्जा बढ़ता है। हो सके तो दीवार पर खींची लाइने व अन्य धब्बे आदि मिटाने चाहिए। लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी। अपने घर में पवित्र नदियों का जल संग्रह कर के रखना चाहिए। इसे घर के ईशान कोण में रखने से अधिक लाभ होता है।

कोई दूर जाकर मेरे जीवन में वापस लौट आया है। पर अब मेरी शादी हो गई है। मुझे क्या करना चाहिए। 

जन्म तिथि-12.12.1986. जन्म समय- 14-28, जन्म स्थान, रोहतक, कमला दहिया
आपके सप्तम भाव का स्वामी शुक्र सप्तम में ही बैठ कर जहां दांपत्य जीवन में सतर्क रहने का संकेत दे रहा है, वहीं प्रेम भाव का मालिक यानी पंचमेश सूर्य अष्टम में शत्रु शनि के साथ विराज कर प्रेम संबंधों के लिए चुनौतियां प्रस्तुत कर रहा है। पहले और अब की परिस्थितियों में जमीन आसमान का फर्क है। ग्रह योग आपको इस संबंध से लाभ का नहीं, हानि का संकेत दे रहे हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और एस्ट्रोलॉजी ख़बरें